बेरोजगारी, किसान कानून और अन्य कई मुद्दों को लेकर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव आज केंद्र और योगी आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ साइकिल यात्रा निकालेंगे. इस विरोध-प्रदर्शन की कमान खुद अखिलेश यादव संभालेंगे. वह लखनऊ में पार्टी हेडक्वॉर्टर से अपनी साइकिल पर निकलेंगे और जनेश्वर मिश्रा पार्क की तरफ बढ़ेंगे.  उनकी पत्नी डिंपल यादव साइकिल यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगी, जो उत्तर प्रदेश के सभी जिलों के तहसील स्तर तक निकाली जाएगी. यह सरकार की विफलता थी. बड़ी संख्या में लोग मारे गए

यह सरकार हर चीज में नाकाम रही. ऑक्सीजन तक उपलब्ध नहीं करवा पाए. जनता में नाराज़गी है. आने वाले समय में हो सकता है एसपी को 400 सीट भी जितवा दे. आज ऐसी स्थिति ऐसी है कि बीजेपी के पास प्रत्याशी कम पड़ेंगे. विभिन्न लोगों को जेल में डालने में नंबर वन. विशेष धर्म पर अत्याचार करने में नंबर वन है. अखिलेश ने कहा कि हमारे सीएम को लैपटॉप चलाना नहीं आता इसलिए नहीबांटा. किसानों की आय दोगुनी करने की बात की थी पर कुछ भी नहीं हुआ. बीजेपी को ये बताना चाहिए. आज भी गन्ना मूल्य बकाया है. जनेश्वर मिश्र ने हमेशा समाजवादी को आगे बढ़ाया. उन्होंने सामने खड़े होकर संकटों का सामना किया.

 

 

@TODAYINDIALIVENEWS