टोक्यो ओलंपिक का आज 13वां दिन है. महिला मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन (69 किग्रा) का सेमीफाइनल मुकाबला जारी है. लवलीना बोरगोहेन पहले ही पदक सुरक्षित कर चुकी हैं. इससे पहले भारतीय पहलवानों ने अच्छा प्रदर्शन किया. रवि कुमार और दीपक पूनिया ने सेमीफाइनल में जगह बना ली है.

महिला मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन (69 किग्रा) टोक्यो ओलंपिक में पहले ही पदक सुरक्षित कर चुकी हैं, लेकिन बुधवार को वह तुर्की की मौजूदा विश्व चैम्पियन बुसेनाज सुरमेनेली के खिलाफ जीत दर्ज करके फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय मुक्केबाज बनने की कोशिश करेंगी. भारत के स्टार जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने शानदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल में जगह बना ली है. नीरज ने क्वालिफिकेशन राउंड में 86.65 मीटर दूर भाला फेंका. इस प्रदर्शन के बाद उनसे मेडल की उम्मीद बढ़ गई है.

कुछ देर में लवलीना का मैच

भारत की महिला मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन अब से कुछ देर में रिंग में नजर आएंगी. वह महिलाओं की 69 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में तुर्की की बुसेनाज सुरमेनेली का सामना करेंगी. असम की 23 साल की लवलीना इतिहास रचने की दहलीज पर खड़ी हैं. वह पदक पक्का करके पहले ही विजेंदर सिंह (2008) और एम सी मैरीकॉम (2012) की बराबरी कर चुकी है. लवलीना का पदक पिछले 9 वर्षों में भारत का मुक्केबाजी में पहला पदक होगा, लेकिन उनका लक्ष्य अब फाइनल में पहुंचना होगा जहां अभी तक कोई भारतीय नहीं पहुंचा है.

 

@TODAYINDIALIVENEWS