मॉनसून सत्र में संसद के अंदर और बाहर दोनों जगह विपक्ष के सांसद केंद्र सरकार को घेर रहे हैं. पेगासस जासूसी विवाद और कृषि कानूनों की वापसी को लेकर लगाता सदन में हंगामा किया जा रहा है. साथ ही सदन के बाहर भी सांसद आवाज उठा रहे हैं. अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी के सांसद अनूठे ढंग से किसानों का समर्थन कर रहे हैं.

हेमा मालिनी को दी गेहूं की बाली

हरसिमरत कौर ने जिस वक्त हेमा मालिनी को गेहूं की ये बाली दी, उस वक्त उनके हाथों में एक पोस्टर भी था, जिसपर लिखा है Let’s Stand With Annadaata यानी अन्नदाता के साथ खड़े हों.  दोनों ही पार्टियां संसद में किसानों की आवाज उठा रहे हैं और तीनों कानून वापसी की मांग को लेकर हर दिन प्रदर्शन कर रहे हैं.  सुखबीर बादल भी इस प्रदर्शन में शामिल होते हैं. पिछले कुछ दिनों से ऐसे ही यहां से गुजरने वाले सांसदों को गेहूं की बाली दी जा रही है. बीजेपी के अलावा अन्य पार्टियों के सांसदों को भी ये बाली दी जा रही है. सोमवार को हरसिमरत कौर ने केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह को भी गेहूं की बाली दी थी. हरसिमरत का कहना है कि वो नीति-निर्माताओं की अंतरात्मा जगाने के लिए ऐसा कर रही हैं.

 

@TODAYINDIALIVENEWS