राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटसरा के रिश्तेदारों के राजस्थान प्रशासनिक सेवा में चयन को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है. जनता पार्टी नेता सुरेंद्र सिंह शेखावत ने शिक्षा मंत्री पर राजस्थान प्रशासनिक सेवा की परीक्षा में हेर-फेर करने का आरोप लगाते हुए इस्तीफा मांगा है . धांधली के आरोपों पर राजस्थान में बवाल देखने को मिल रहा है, बीजेपी शिक्षा मंत्री को लगातार घेर रही है. बीजेपी ने तीनों के अलग-अलग प्राप्तांक भी किए हैं.

इंटरव्यू में तीनों रिश्तेदारों को मिले समान अंक

बीजेपी की ओर से जारी लिस्ट के मुताबिक पहले पेपर में गौरव को 48.75 फीसदी अंक मिले, वहीं दूसरे पेपर में 41.25 फीसदी अंक. थर्ड पेपर में 50 फीसदी अंक मिले हैं. चौथे में 49.75 फीसदी अंक. लिखित में कुल अंक 47.44 फीसदी हैं, वहीं इंटरव्यू में 80 फीसदी अंक मिले.

शिक्षा मंत्री ने आरोपों का किया खंडन

राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटसरा का कहना है कि उनका, राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से जारी RAS के रिजल्ट से कोई लेना-देना नहीं है. शिक्षा मंत्री ने कहा है कि बहुत सारे लोगों को इंटरव्यू में 80 फीसदी अंक मिले हैं.

क्या है राजस्थान लोग सेवा आयोग का रिएक्शन?

वहीं पूरे प्रकरण पर राजस्थान लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह यादव ने आजतक से बातचीत में कहा है कि बकरीद की छुट्टी होने की वजह से मैं रिकॉर्ड की जांच नहीं कर सकता. रिकॉर्ड देखने के बाद ही कुछ बोलूंगा.

 

@TODAYINDIALIVENEWS