जालौन आट अकोढ़ी मार्ग स्थित कृष्णा गौशाला में पिछले एक माह से एक भी अन्ना मवेशी बंद नही किए जाते। और न ही गौशाला की साफ-सफाई होती है। गौशाला में लगे बांस बल्ली के टप्पर टूट गए है। उसमें लगे तिरपाल भी पूरी तरह फट चुके है। आलम यह है कि ही गोशाला के मैदान में जगह जगह गंदगी व काई जम गई है। आटा कृष्णा गौशाला मवेशियों के पानी पीने के लिए बना होद में काई जम गई है। होद में भरा पानी रंग सफेद की जगह हरा हो गया है। बता दें कि गोशाला में मवेशियों को बंद न होने से मवेशी अन्ना घूम रहे है। और हाइवे जाकर विचरण कर रहे है। जिससे दो पहिया व चार पहिया वाहन सवार उनसे टकराकर चुटहिल हो रहे है। कभी कभार तो अन्ना मवेशी भी दुर्घटना का शिकार हो रहे है।
आटा निवासी गुड्डू तिवारी, धीरेंद्र, नीरज तिवारी, राजेंद्र पाल, सुनील तिवारी,सुरेश कुशवाहा, का कहना है कि खरीफ की फसलों के बोआई का समय चल रहा है। अगर गोशाला में अन्ना मवेशियों को बंद नही किया तो ये फसलों को नुकसान पहुंचाएगे।

 

@TODAYINDIALIVENEWS