बांग्लादेश के टी20 कप्तान महमूदुल्लाह ने शनिवार को टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेकर अपने देशवासियों और क्रिकेट बोर्ड को चौंका दिया था. वजह यह है कि 35 साल महमूदुल्ला ने जिंबाब्बे के खिलाफ खेले हालिया अपने आखिरी टेस्ट में 150 रन से ऊपर की पारी खेली थी, जो उनके टेस्ट करियर का सर्वश्रेष्ठ स्कोर है.

अगर महमूदुल्लाह अपने फैसले से जुड़े रहते हैं, तो वह करीब 144 साल के टेस्ट इतिहास में ऐसा रिकॉर्ड बना देंगे, जो कभी किसी खिलाड़ी ने नहीं बनाया है. साल 1877 में खेले गए पहले टेस्ट के बाद से वर्तमान समय तक अलग-अलग देशों के तकरीबन 3000 से ज्यादा टेस्ट खिलाड़ियों को टेस्ट  कैप पहनने का सौभाग्य मिला है,

जिन्होंने अपने करियर के पहले ही टेस्ट में एक पारी में पांच विकेट चटकाए, तो आखिरी टेस्ट में शतक जड़ा. महमूदुल्लाह ने करयिर के पहले टेस्ट में कुल मिलाकर आठ विकेट चटकाए थे. बहरहाल, अगर महमूदुल्लाह संन्यास से जुड़े रहते हैं, तो वह एक ऐसी उपलब्धि के साथ रिटायर होंगे, जिसे तोड़ना किसी के लिए भी स्वप्न सरीखा होगा.

 

@TODAYINDIALIVENEWS