ब्लॉक प्रमुख के चुनाव से पहले नामांकन के दौरान उत्तर प्रदेश में हुई हिंसा पर अब राजनीतिक बयानबाजी हो रही है. चुनावी हिंसा को लेकर अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में कोई भी सुरक्षित नहीं है, बीजेपी की सरकार को जनता ही सबक सिखाएगी.

पप्पू यादव को अखिलेश यादव का जवाब..

अखिलेश यादव ने कहा, ‘हां, हमसे ना हो पाएगा. लेकिन उत्तर प्रदेश की जनता बदलाव चाहती है, यूपी में जल्द ही बदलाव की लहर चलेगी.’  सड़क पर संघर्ष! इतनी बड़ी पार्टी, इतना संसाधन हो तो BJP वालों की गुंडई और ढोंगी के दुःशासन का होश ठिकाने लगा देता!  एक बहन का बीच सड़क पर चीरहरण और आप आराम से बैठे हो! जेल से निकलता हूं, संघर्ष के लिए पार्टी आउटसोर्स कर दीजिएगा! फिर दिखाते हैं.‘’

प्रदेश सरकार पर बरसे अखिलेश..

अखिलेश यादव ने कहा कि माताप्रसाद पांडेय जी को नामांकन के दौरान भारतीय जनता पार्टी के गुंडों का सामना करना पड़ा. लखीमपुर की घटना को लेकर अखिलेश यादव ने कहा कि हमारी बहन की गलती सिर्फ यही थी कि वो समर्थक थी. मुख्यमंत्री जी बताएं कि आखिर गुंडों को खुली छूट किसने दी है.  इस दौरान प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में जमकर हिंसा हुई है. सिद्धार्थनगर, अंबेडकरनगर, सीतापुर, लखीमपुर खीरी समेत अन्य जिलों में गोलीबारी, हिंसा, तोड़फोड़ दर्ज हुई.

 

@TODAYINDIALIVENEWS