मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल को दो साल पूरे होने के बाद पहली बार केंद्रीय कैबिनेट में बदलाव होने जा रहा है. साथ ही अगले साल जिन राज्यों में विधानसभा चुनाव होना है उसकी छाप भी कैबिनेट विस्तार में मिल सकती है.

कैबिनेट विस्तार में नए मंत्रियों के शपथ ग्रहण के अलावा कुछ मंत्रियों का प्रमोशन भी हो सकता है. अनुराग ठाकुर, पुरुषोत्तम रुपाला और जी. किशन रेड्डी को कैबिनेट में बड़ी ज़िम्मेदारी मिल सकती है.

बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया, सर्वानंद सोनोवाल, अजय भट्ट, कपिल पाटिल, शांतनु ठाकुर, पशुपति पारस, नारायण राणे, मीनाक्षी लेखी, शोभा करांडलजे, अनुप्रिया पटेल, हिना गावित, अजय मिश्रा पीएम आवास पर पहुंचे हैं.

किनको मिल सकता है मौका?

माना जा रहा है कि इस बार कई युवा चेहरों को मोदी कैबिनेट में जगह मिल सकती है बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, महाराष्ट्र के दिग्गज नेता नारायण राणे नई दिल्ली पहुंच गए हैं,

किस फॉर्मूले के तहत हो रहा बदलाव?

अगले साल कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होना है, जिसमें उत्तर प्रदेश सबसे अहम है. ऐसे में कैबिनेट विस्तार में चुनावी राज्यों पर फोकस किया जा रहा है, इसके अलावा क्षेत्रीय और जातीय समीकरण भी देखे जा रहे हैं. इस बार कई एससी, ओबीसी नेताओं को मौका मिल सकता है, साथ ही युवाओं पर बल दिया जा रहा है.

 

@TODAYINDIALIVENEWS