कोरोना के नए वैरिएंट डेल्टा प्लस ने एक्सपर्ट्स की चिंता बढ़ा दी है. ऐसे में हरियाणा के फरीदाबाद के लिए खतरे की घंटी बज चुकी है. जानकारी के मुताबिक पहला केस फरीदाबाद के ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज में पाया गया है.फरीदाबाद ईएसआई मेडिकल कॉलेज के डिप्टी डीन डॉ एके पांडेय ने बताया कि यह केस शुक्रवार शाम को डिटेक्ट हुआ है. इसके लिए हमने जिला प्रशासन के साथ साथ हरियाणा के स्वास्थ्य विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी को भी सूचित किया है

उन्होंने मरीज की पहचान बताने से इनकार करते हुए कहा कि यह नहीं बताया जा सकता है. यह कॉन्फिडेंशियल है. उन्होंने बताया कि कोरोना पॉजिटिव आने वाले 5% रेंडम सेंपलिंग करके जीनोम टेस्टिंग करवाते हैं. इसके अलावा जिन लोगों को दोनों वैक्सीन लग चुकी हैं.उसके बाद भी वह अगर पॉजिटिव आते हैं तो उसी के बाद डेल्टा प्लस वैरिएंट का खुलासा हो पाता है.

 

@TODAYINDIALIVENEWS