देश में जैसे ही कोरोना की दूसरी लहर कुछ कमज़ोर पड़ने लगी है वैसे ही किसानों का आंदोलन एक बार फिर तेज़ हो रहा है. किसान संगठनों द्वारा एक बार फिर दिल्ली कूच की बात कही गई है. भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत का कहना है कि ये रिहर्सल इसलिए हो रही है कि 26 तारीख नजदीक है, किसान 26 तारीख को कभी नहीं भूलेगा. हर महीने 26 तारीख आएगी,

पिछले करीब आठ महीने से राकेश टिकैत की अगुवाई में गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का जमावड़ा है.अब एक बार फिर आंदोलन को हवा दी जा रही है. गुरुवार रात से ही मेरठ के सिवाय टोल प्लाज़ा पर किसानों का पहुंचना जारी रहा, यहां से किसान गाजीपुर बॉर्डर पहुंच रहे हैं.

किसानों और सरकार के बीच अबतक कई दौर की चर्चा हो चुकी है, लेकिन पिछले लंबे वक्त से कोई बातचीत नहीं हुई है. बीते दिनों भी केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा था कि सरकार चर्चा के लिए तैयार है, हालांकि कानून वापस नहीं होंगे.

 

@TODAYINDIALIVENEWS