जम्मू-कश्मीर में लंबे समय के बाद सियासी दलों की सक्रियता देखने को मिल रही है। जैसे ही उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ‘दिल्ली दरबार’ में पहुंचते हैं तो जम्मू-कश्मीर के ‘गुपकार’ नेताओं में हलचल मच जाती है। हाल ही में मनोज सिन्हा दो बार दिल्ली आ चुके हैं। उन्होंने शुक्रवार को भी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की है। खास बात है कि इस बैठक में एनएसए अजीत डोभाल, गृह सचिव, आईबी डायरेक्टर, रॉ चीफ और जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह के अलावा कई दूसरे अधिकारी मौजूद रहे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जम्मू-कश्मीर के राजनीतिक दलों के साथ बैठक कर सकते हैं। यह बैठक जून के आखिर में संभावित है। कहा गया कि ‘गुपकार’ इस बैठक में भाग लेगा। जम्मू-कश्मीर के सुरक्षा एवं राजनीतिक मामलों के विश्लेषक और प्रदेश भाजपा प्रवक्ता ब्रिगेडियर अनिल गुप्ता कहते हैं, ‘गुपकार’ नेता इस बैठक के लिए उतावले हो रहे हैं, इसका मतलब उन्होंने ‘अनुच्छेद 370’ की समाप्ति को मान लिया है।

 

@TODAYINDIALIVENEWS