कानपुर के सचेंडी हादसे में 18 बेकसूर गरीब लोगों की जानें चली गईं लेकिन जिम्मेदारों की लापरवाही अभी भी जारी है। हादसे को चार दिन बीते गए लेकिन अब तक विभागीय जांच शुरू नहीं हो सकी। अब एडीजी जोन का कहना है कि हादसे के पीछे कौन-कौन जिम्मेदार है इसको स्पष्ट करने के लिए राजपत्रित अफसर से जांच कराएंगे। हैरानी की बात ये है कि जांच अधिकारी तक अभी तय नहीं किया गया है। अफसरों की बेपरवाही चरम पर है। हादसे को लेकर शुक्रवार को एडीजी जोन, पुलिस कमिश्नर समेत अन्य अफसरों ने बैठक भी की। हादसे के पीछे कई कारण सामने आ रहे थे। खासकर यातायात नियमों का उल्लंघन और जिम्मेदारों की लापरवाही उजागर हुई थी। पुलिस, एनएचएआई, आरटीओ आदि विभाग हादसे के पीछे सीधे जिम्मेदार हैं। इनकी जिम्मेदारी तय करने के लिए हादसे की जांच जरूरी है जो अभी तक शुरू नहीं हो सकी है। केवल शुरुआत में सीओ सदर ने मामले की एक रिपोर्ट भेजकर खानापूर्ति की थी।

 

@TODAYINDIALIVENEWS