पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर शिरोमणि अकाली दल (SAD) और मायावती की बहुजन समाज पार्टी (BSP) के बीच आज शनिवार को चुनावी गठबंधन हो गया है. अकाली दल के नेता सुखबीर बादल ने अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी के बीच गठबंधन की घोषणा करते हुए कहा कि पंजाब में हम मिलकर विधान सभा चुनाव लड़ेंगे.

सुखबीर सिंह बादल ने गठबंधन का ऐलान करते हुए कहा कि यह पंजाब की राजनीति में एक नया दिन है. शिरोमणि अकाली दल (SAD) और बहुजन समाज पार्टी (BSP) अगले साल होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव और भविष्य में होने वाले चुनाव एक साथ लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि 117 सीटों में से बसपा 20 सीटों पर जबकि अकाली दल शेष 97 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

राज्य को कांग्रेस से मुक्त बनाना हैः सुखबीर सिंह

पंजाब में करीब 33% दलित वोट हैं और अहम माने जा रहे दलित वोट बैंक पर अकाली दल की नजर है. अकाली दल बीएसपी के सहारे इस दलित वोट बैंक को हासिल कर एक बार फिर से सत्ता में आने की कोशिशों में जुटी है. अकाली दल ने दलित वोट बैंक को लुभाने को लेकर पहले ही ऐलान कर दिया है कि अगर प्रदेश में अकाली दल की सरकार बनती है तो उपमुख्यमंत्री दलित वर्ग से बनाया जाएगा.

 

@TODAYINDIALIVENEWS