पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड का चश्मदीद रहा सोनू महाल पहली बार सामने आया है. आज तक से खास बातचीत में सोनू महाल ने बताया कि 4-5 मई की रात आखिर क्यों ओलंपिक पदक विजेता रेसलर सुशील कुमार ने सागर को जान से मारा और उसका हाथ क्यों तोड़ा? 4-5 मई की रात सागर के साथ सोनू महाल को भी अगवा करके छत्रसाल स्टेडियम लाया गया था. सागर और सोनू महाल दोनों को सुशील और उसके साथियों ने किडनैप करके छत्रसाल स्टेडियम ले आए थे.

सोनू का दोनों हाथ टूटा हुआ है और उसमें रॉड लगी हुई. सोनू का दोनों हाथ टूटा हुआ है और उसमें रॉड लगी हुई. सोनू को दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा भी दी हुई है. आज तक से खास बातचीत में सोनू ने बताया कि सुशील ने उसे उस रात बहुत मारा था जिसमें सागर जाने लगा और अपने साथ छत्रसाल में आने वाले 50-60 पहलवानों को भी नांगलोई लेकर जाने लगा, इस वजह से सुशील कुमार, सागर से बौखलाया हुआ था.

पत्नी ने पुलिस को किया फोन, फिर सुशील ने भगते को छोड़ा

बड़ा खुलासा ये है कि उस रात सुशील ने सागर के एक साथी भगत सिंह उर्फ भगते को पूरी रात किडनैप करके बंधक बनाए रखा और पिटाई करता रहा, लेकिन 4-5 मई की रात भगत सिंह की पत्नी ने दिल्ली पुलिस के 100 नम्बर पर फोन मिलाया और जानकारी दी कि उसके पति को किडनैप कर लिया गया है.

 

@TODAYINDIALIVENEWS