युवा हमारे देश का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा हैं, और हो भी क्यों ना देश का भविष्य इन्हीं के कंधों पर तो टिका हैं, और यह ही भविष्य के आने वाले नेता हैं। हर युवा अपनी प्रेरणा के रूप में किसी ना किसी को जरूर देखता हैं। ऐसे ही युवाओं को प्रेरित करने वाले लोकप्रिय राजपूत समुदाय के युवा नेता हैं महेंद्र प्रताप सिंह।

महेंद्र प्रताप सिंह ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कर्तव्यनिष्ठ कार्यकर्ता के रूप में की थी फिर समय अनुसार उन्हें सफलता मिली और उन्हें जिला संयोजक के मुख्य पद पर नियुक्त किया गया। वर्तमान में समाजिक संगठन राष्ट्रीय गौरक्षा वाहिनी गौ सेवा संघ में राष्ट्रीय प्रभारी युवा, प्रदेश प्रभारी उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, राजस्थान व भारतीय जनता युवा मोर्चा दक्षिणी दिल्ली में जिला मंत्री के पद पर कार्यरत हैं।

महेंद्र प्रताप सिंह का जन्म 27 दिसंबर 1993 को देव भवन रनिया कानपुर देहात उत्तर प्रदेश में हुआ था। महेंद्र प्रताप सिंह अपने काम को लेकर युवाओं में काफी चर्चित रहते हैं। युवाओं के प्रति उनका समर्पण और प्यार उन्हें युवाओं के बीच लोकप्रिय बनाता हैं। वह खुद हमेशा युवाओं और जरूरतमंदों की मदद के लिए खुद को आगे रखते हैं। जिसकी वजह से आज उनके साथ काफी युवा जुड़ गए हैं।

पूरा देश अभी करोना की महामारी से जूझ रहा है ऐसे समय में महेंद्र प्रताप सिंह हमेशा लोगों की मदद के लिए आगे आए चाहे वह मदद ब्लड डोनेशन की हो, ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था कराने की हो या आईसीयू बेड उपलब्ध कराने की महेंद्र प्रताप सिंह ने हर संभव प्रयास कर लोगों की मदद की हैं।

महेंद्र प्रताप सिंह का लक्ष्य हमेशा जरूरतमंद लोगों की मदद करने का है और युवाओं को प्रेरित कर देश में बदलाव लाने का हैं। वह कहते हैं कि मनुष्य की सेवा ही ईश्वर की सेवा हैं। मेरे लिए सब बराबर हैं।जिन्हें मदद की जरूरत है मैं उसकी मदद के लिए हर संभव प्रयास करता हूं। युवाओं के प्रति उनका यही समर्पण और लोगों के प्रति उनका प्रेम उन्हें सर्वश्रेष्ठ नेता बनने की ओर अग्रसर कर रहा हैं।

महेंद्र प्रताप सिंह को कई राष्ट्रीय सम्मान भी प्राप्त हैं। उन्हें 2018 में जिला गौरव सम्मान, 2019 में भारतीय बौद्ध संघ द्वारा सामाजिक परिदृश्य पर कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया था। 2020 में अटल स्मृति सम्मान से नवाजा गया जिसमें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से देश के माननीय गृह मंत्री अमित शाह जी उपलब्ध थे।