नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी की आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात हो सकती है. ममता ने अमित शाह से मिलने के लिए समय मांगा है. ममता ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनके आवास 7 लोक कल्याण मार्ग पर मुलाकात की. बैठक के बाद ममता ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात अच्छी रही. हमने पश्चिम बंगाल का नाम बदलकर बांग्ला करने को लेकर बातचीत की. उन्होंने इस मुद्दे पर कदम उठाने का वादा भी किया.”

 

ममता बनर्जी इस साल संपन्न हुए लोक सभा चुनाव के बाद पहली बार मोदी से मुलाकात की. इससे पहले मोदी और ममता के बीच मई 2018 में बैठक हुई थी.

 

इसके अलावा बैठक के दौरान रेलवे और खनन से संबंधित रुकी हुई परियोजनाओं व कुछ सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों के विनिवेश के संबंध में भी बातचीत की गई.

 

बनर्जी ने बीरभूम में कोयला परियोजना के उद्घाटन के लिए प्रधानमंत्री को भी आमंत्रित किया.

 

ममता ने कोलकाता की एक प्रसिद्ध दुकान से मोदी के लिए पीले फूलों का एक गुलदस्ता भी लिया. संदेश मिठाई के कई पैकेट भी भेंट किए.

 

दिलचस्प बात यह है कि 2019 के आम चुनावों के दौरान बनर्जी ने कहा था, “मैं मोदी को मिट्टी व कंकड़ से बने रसगुल्ले भेजूंगी ताकि वह इन्हें खाएं और अपने दांत तुड़वा लें.”

 

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने 2019 के आम चुनावों के दौरान मोदी की तीखी आलोचना को याद करते हुए कहा, “किसी को यह अनुमान है कि वह मोदी के साथ अचानक बैठक क्यों कर रही है?”

 

अंदाजा लगाया जा रहा है कि ममता के सुर और तेवर के साथ बदलते हुए राजनीतिक घटनाक्रम और परिस्थितियों के साथ क्या उनके व मोदी के बीच एक नए युग की शुरुआत होगी?