आपको बता दे कि हरियाणा में भाजपा विधायक डॉ.कृष्ण मिड्ढा ने उनकी छत से कथित तौर पर किसानों को बंदूक दिखाने के मामले में शुक्रवार को सफाई देते हुए कहा कि कुछ शरारती तत्व उन्हें एवं उनके परिवार को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं।

जहाँ भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि अगर 48 घंटे के भीतर आरोपियों पर कार्रवाई नहीं होती तो तीन मई को खटकड़ टोल पर बुलाई गई खाप महापंचायत में आगे की रणनीति तय होगी।

मिड्ढा ने आरोपों से इनकार करते हुए सवाल किया कि अगर उनके परिवार पर लगे आरोप गलत पाए जाते हैं तो क्या खाप महापंचायत झूठे आरोप लगाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करेगी?

कृषि कानूनों पर नर्म दिखे किसान? राकेश टिकैत बोले- सरकार से दोबारा वार्ता को तैयार

मिड्ढा ने कहा कि अगर महापंचायत में झूठे आरोप लगाने वालों पर कार्रवाई नहीं होती तो वह अदालत में मानहानि का मुकदमा दर्ज करेंगे।

उस दौरान पड़ोस के बच्चे छत पर एयर गन से बंदरों को भगा रहे थे, लेकिन शरारती तत्वों ने पड़ोसियों के बच्चों को मेरे परिवार का बताया।

भाकियू जिलाध्यक्ष आजाद पालवां ने कहा कि विधायक के परिवार द्वारा किसानों को बंदकू दिखाने की शिकायत पर अगर 48 घंटे में पुलिस कार्रवाई नहीं करती तो तीन मई को सर्व खापों की महापंचायत में आगामी रणनीति तय की जाएगी।

 

@TODAYINDIALIVENEWS