COVID-19VACCINATION

कोरोना की चेन तोड़ने के लिए चलाए जा रहे मिशन वैक्सीनेशन का नया चरण 1 मई से शुरू होना है. आपको बता दे कि इस दौरान 18 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को वैक्सीन लगेगी, लेकिन कई राज्यों ने इस चरण को शुरू करने से पहले मना कर दिया है. क्योंकि राज्यों के पास पर्याप्त वैक्सीन ही नहीं है.

भारत में कोरोना की दूसरी लहर ने हड़कंप मचा दिया है. दिल्ली हो या महाराष्ट्र, या फिर उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल, हर ओर हाहाकार मचा है. अस्पतालों में बेड्स की कमी है, लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिल रहा है और कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं. इस बीच सरकार ने 1 मई से 18 साल से अधिक उम्र वाले सभी लोगों के लिए वैक्सीनेशन करने का ऐलान किया, जिसके लिए रजिस्ट्रेशन शुरू भी हो गया है.

लेकिन देश में इस वक्त तमाम सुविधाओं के साथ-साथ वैक्सीन की भी किल्लत है, ऐसे में कई राज्य 1 मई से वैक्सीनेशन शुरू करने से इनकार कर चुके हैं. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल ये है कि अगर देश में वैक्सीन मौजूद नहीं है, और राज्यों के पास कोई स्टॉक नहीं है, तो फिर क्या बिना किसी तैयारी के 1 मई से सभी के लिए वैक्सीनेशन का ऐलान कर दिया गया था.

कई राज्यों ने VACCINATION से किया इंकार

दिल्ली, महाराष्ट्र, राजस्थान समेत कई राज्यों ने अपने यहां 1 मई से वैक्सीनेशन का नया अभियान शुरू करने से इंकार कर दिया. सिर्फ विपक्षी दलों के राज्य ही नहीं, बल्कि भारतीय जनता पार्टी शासित राज्यों ने भी VACCITAION से इंकार किया है.

@TODAYINDIALIVENEWS