पति की सलामत के लिए महिलाओं ने रखा निर्जला व्रत किया कामन :– लालापुर (प्रयागराज ) महिलायें अपने सजना (पति ) के लिए सबसे कठिन व्रत करवा चौथ का व्रत बुधवार को रखा। क्षेत्र में काफी महिलाओं ने बढ़-चढ़कर करवा चौथ व्रत में हिस्सा
लिया । देर शाम चंद्रोदय के उपरांत चलनी से चंद्रमा के दर्शन कर उन्हें अर्ध्य देने के उपरांत पति के हाथों से जल का पारण किया । इस अवसर पर व्रती महिलाएं प्रातः काल स्नान आदि से निवृत्त होने के पश्चात घरों व मंदिरों में पूरे विधि विधान के साथ पूजा अर्चना की । दिनभर निर्जला व्रत रखकर शाम को नये परिधान एवं आभूषण धारण कर चंद्र दर्शन कर चंद्रमा को सोलह श्रृंगार अर्पित कर पूजा अर्चना की । करवा चौथ पर्व के इस अवसर पर लालापुर अमिलिया प्रतापपुर बसहरा बारा जसरा गौहनिया शंकरगढ़ सहित अन्य बाजारों में भी काफी चहल-पहल रही । महिलायें एवं युवतियां तथा नवविवाहिताओं ने भोर में स्नान कर विधि-विधान से भगवान शिव माता पार्वती व देवों में देव देवाधि देव गणेश शंकर या कार्तिकेय महाराज जी की उपासना के साथ व्रत को आरंभ किया था। दिनभर निर्जला व्रत रहकर महिलाओं ने सायं काल पुनः स्नानादि कर चंद्रोदय के पश्चात भगवान चंद्रमा का दर्शन कर विधि विधान से पूजा आराधना की । विधिवत पूजा की सामग्रियों को अर्पित कर चलनी से चंद्रदेव का दर्शन कर पति के हाथों से दिया गया जल ग्रहण कर व्रत का पारण किया । इसके बाद सास-ससुर व बड़े बुजुर्गों का चरण स्पर्श कर आशीर्वाद प्राप्त किया ।