यूपी के कानपुर देहात में अवैध खनन जोरो पर चल रहा है अधिकारी भी इस मामले की सूचना पर अपनी आंखें बंद किये हुए है । अवैध खनन की सूचना पर खबर कबरेज़ करने गए इंडिया न्यूज पत्रकार के साथ खनन माफियाओं ने मारपीट और जिले से गायब कराने व गोली मारने की भी धमकी । सूचना के बाद भी जिले के अधिकारियों ने नही की कोई कार्यवाही।

योगी सरकार में अवैध खनन पर रोक लगाने के लाख दावे किए गए थे बाबजूद इसके कानपुर देहात में अवैध खनन धड़ल्ले से चल रहा है । अवैध खनन की सूचना पर खबर कबरेज़ करने गए इंडिया न्यूज के पत्रकार सूरज सिंह और उनके सहयोगी कैमरामैन पर खनन माफियाओ ने जान लेवा हमला करते हुए । जिले से गायब कराने व गोली मारने की धमकी देते हुए डराने धमकाने लगे ।जो वीडियो में साफ साफ सुनाई दे रहा है ।

भोगनीपुर कोतवाली क्षेत्र के श्यामसुंदरपुर गाँव मे अवैध खनन जोरो पर चल रहा था । जिसकी जानकारी इंडिया न्यूज के पत्रकार सूरज सिंह को हुई वो अपनी टीम के साथ मौके पर जा कर खबर करने के दौरान सर्व प्रथम उप जिलाधिकारी दीपाली भार्गवा व जिलाधिकारी दिनेश चंद्र को दी गई । सूचना देने के घंटो बाद भी जब कोई नही पहुचा तो उपजिलाधिकारी दिपाली भार्गवा को दोबारा अवगत करवाया तो उन्होंने एक शर्मसार करने वाली कहि की हमारे पास कोई एरोप्लेन नही है कुछ ही देर में आ रहे होंगे उतने में ही खनन माफिया मुन्ना यादव,गोपू यादव व अन्य उसके साथी पहुच गए और पत्रकरो से मारपीट करने लगे । यहां तक कि खनन माफियाओं के हौसले इतने बुलन्द है कि उन्होंने अपने रसूक के चलते इंडिया न्यूज के पत्रकार से बोलते हुए कहा कि तुम्हे जिले में रहने नही देंगे जिले से गयाब करवा देंगे गोली मरवा देंगे ।

गाड़ी खाली कर भाग रहे डम्फर चालक ने खुद बताया कि उसको एक फ़ोन खनन माफिया गोपू यादव ने करके कहा कि वह से गाड़ी खाली करके दोनो JCB और पांचो डम्फर लेकर निकलो ।

अधिकारियों को सूचना देने के बादजूद कोई कार्यवाही नही की गई । जिलाधिकारी दिनेश चंद्र ने तो ये तक कहा कि ऐसी खबर मत करो ।

ऐसे अधिकारियों की दम पर खनन माफियाओ के हौसले यूपी में बुलन्द हो रहे है । ये कभी भी कोई भी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते है । क्योंकि इन्हें पता है अधिकारी इन पर कोई कार्यवाही नही करेगा ।

संवाददाता
सर्वेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट