शनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला के चीन प्रेम पर भाजपा ने सोमवार को जमकर निशाना साधा। भाजपा प्रवक्‍ता संबित पात्रा ने कहा कि फारूक अब्दुल्ला ने अपने इंटरव्यू में चीन की विस्तारवादी मानसिकता को न्यायोचित ठहराया है। ऐसा नहीं है कि केवल फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ऐसा कहते हैं। यदि आप इतिहास में जाएंगे और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) जी के हाल फिलहाल के बयानों को सुनेंगे तो आप पाएंगे कि ये दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं।  24 सितंबर को फारूक अब्दुल्ला ने कहा था कि आप यदि जम्मू-कश्मीर में जाकर लोगों से पूछेंगे कि क्या वह भारतीय हैं, तो लोग कहेंगे कि नहीं हम भारतीय नहीं हैं। अब वहीं फारूक अब्‍दुल्‍ला देशद्रोही बयान देते हैं कि भविष्य में हमें यदि मौका मिला तो हम चीन के साथ मिलकर अनुच्छेद 370 को वापस लाएंगे।