महराजगंज जिले के कोठीभार थाना परिसर में उस समय असमंजस की स्थिति पैदा हो गई। जब दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार युवक को छुड़ाने के लिए पीड़ित किशोरी थाने पहुंच गई। किशोरी प्रेमी को छोड़ने की जिद करते हुए थाना प्रभारी पर दबाव बनाने लगी। थाना प्रभारी ने किशोरी को समझा-बुझाकर उसके स्वजनों के साथ घर भेज दिया।

सामूहिक दुष्‍कर्म का है आरोप

चार अक्टूबर को क्षेत्र के एक गांव में किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए उसके स्वजनों ने तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की थी। जिसके बाद कलमबंद बयान में किशोरी अपने बयान से पलट गई थी। मंगलवार को इसी मामले में पुलिस आरोपित कथित प्रेमी को गिरफ्तार कर जेल भेजने की तैयारी में थी। इसी बीच पीड़ित किशोरी थाना परिसर में पहुंच कर पुरुष बैरक में बंद आरोपित प्रेमी से बात किया। फिर थाना प्रभारी निरीक्षक अमरजीत यादव के पास पहुंचकर आरोपित युवक को छोड़ने की जिद करने लगी। जिसके बाद पुलिस के सामने असमंज की स्थिति पैदा हो गई। किसी तरह थाना प्रभारी ने किशोरी को समझा बुझाकर उसके स्वजनों के साथ घर भेज दिया। प्रभारी निरीक्षक अमरजीत यादव ने कहा कि किशोरी को समझा बुझाकर घर भेज दिया गया है। दुष्कर्म के आरोप में वांछित चल रहे सतीश कुमार निवासी सिसवा खुर्द टोला पंडितपुर थाना कोठीभार को उसके घर से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। जो कानूनी प्रक्रिया है, उसे पूर्ण किया जा रहा है। आगे जांच के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।