सुजौली/मिहींपुरवा कर्तनिया वन्य जीव प्रभाग के निशानगाढ़ा रेंज अंतर्गत डामर मार्ग के बीचो बीच वनराज को टहलता देख सभी के होश उड़ गये।

जंगल में खुलेआम बाघ को देखना हर किसी की इच्छा होती है किंतु जब कभी अचानक घने जंगलो में बाघ से मुलाकात हो जाये तो उसका सामना करना सबके बस की बात नही होती है। ऐसा ही एक नज़ारा शुक्रवार की रात कर्तनिया वन्य जीव प्रभाग के निशानगाढ़ा रेंज में देखने को‌ मिला जहां एक परिवार अपने निजी वाहन से सुजौली गांव से बिछिया, निशान गाढ़ा होते हुए मिर्जापुर अपनी रिश्तेदारी में जा रहा था कि अचानक मुख्य मार्ग पर बाघ दिख जाने से गाड़ी में सवार परिवार के सभी लोग सहम गये। परिवार के मुखिया दानिश मलिक ने बताया कि अचानक बाघ दिखने से सभी लोग दहशत में आ गये। परिवार की महिलाएं बाघ देख चिल्लाने लगी किंतु वनराज वहा से भागने के बजाय गाड़ी के समानांतर सीधे चलने लगे।

इसी बीच हम लोगों ने बाघ की कई तस्वीरें अपने मोबाइल कैमरे में कैद कर ली। उन्होंने बताया कि पहले तो वनराज को देख हम सब बहुत डर गए थे किंतु अब हम सभी वह क्षण सोच कर खुद को काफी रोमांचित महसूस कर रहे हैं ।

 

आदर्श पांडेय
टुडे इंडिया लाइव न्यूज़