प्रयागराज से 20 किलोमीटर दूरी पर घूरपुर भीटा सुजावन देव मंदिर खतरे के निशान प

ऐतिहासिक वह भारतीय संस्कृत की पहचान सुजावन देव मंदिर पुरातत्व के अंतर्गत बहुत ही पुराना देवस्थान की स्थिति काफी दंडनीय हो गई है यहां पर कार्तिक माह पर एक माह भक्तों की भीड़ एवं मेला लगता है उत्तर प्रदेश शासन सुजावन देव मंदिर की तरफ ध्यान नहीं दे पा रही है जोकि मंदिर का पत्थर खसक रहा है भारतीय संस्कृत की पहचान कायम रखने के लिए इसका संरक्षित कराया जाना बहुत ही जरूरी है सुजावन देव मंदिर का निर्माण नीचे से जो खोखला होता चला जा रहा है उसके रोकथाम के लिए सरकार निर्माण कराएं शासन के द्वारा आदेशित किया जाए निर्माण कार्य के लिए संत महात्माओं की मांग जनता की मांग प्राचीन मंदिर भारतीय संस्कृत की पहचान को कायम रखने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार अति शीघ्र सुजावन देव मंदिर का मरम्मत कार्य जल्द करवाएं जनता की मांग देवस्थान की शान प्रयाग की पहचान
पैराणिक मान्यताओं से जुड़ी भारतीय संस्कृत की पहचान यमुना नदी जलस्तर पर विराजमान सुजावन देव मंदिर की अति शीघ्र शासन निर्मित कार्य करने का आदेश प्रकाशित करें

टुडे इंडिया लाइव न्यूज़
जैसी हकीकत वैसी खबर
खबर व विज्ञापन के लिए संपर्क नंबर 9838 130 330
90 2666 9572
अखिलेश त्रिपाठी ब्यूरो चीफ प्रयागराज