बकेवर थाने के महेवा कस्बा में पुलिस के हाथ-पांव उस समय फूल गए, जब गिरफ्तारी के लिए पहुंचे दारोगा के सामने ही शातिर वांछित अपराधी ने खुद पर पेट्रोल डालकर आग लगा ली। हालांकि कपड़ों में आग ज्यादा बढ़ नहीं पाई, इससे पहले उसे बुझा दिया गया। आग बुझाने में चौकी इंचार्ज भी झुलस, दारोगा और अपराधी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सिकंदरा थाने में दर्ज एक मुकदमे में वांछित पुष्पेंद्र की गिरफ्तारी के लिए बुधवार की सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे महेवा चौकी इंचार्ज पुलिस टीम के साथ दबिश देने गए थे। गांव में पुलिस के आते ही पुष्पेंद्र ने दारोगा के सामने ही खुद पर पेट्रोल डालकर आग लगा ली।

उसके कपड़ों में आग लगते ही पुलिस टीम के हाथ पांव फूल गए। आनन फानन चौकी इंचार्ज नीतेंद्र वशिष्ठ और हमराही ने आग बुझाई। आग बुझाने में चौकी प्रभारी भी झुलस गए। वहीं पुष्पेंद्र की पत्नी रुचि व माता कांता देवी ने पुलिस पर जलाने का आरोप लगाया है। पुष्पेंद्र और चौकी प्रभारी का अस्पताल में उपचार कराया जा रहा है।