संवाददाता आशुतोष मिश्रा

 

उन्नाव।फतेहपुर/कौशाम्बी जिले के कड़ा धाम थाना क्षेत्र के कड़ा धाम कुबरी घाट में 17/07/2020 को बताया जा रहा है कि पांच युवक गंगा स्नान करने गए थे जिसमें की एक युवक गंगा नदी में डूब गया था जिसका नाम मनीष सिंह उर्फ शुभम पुत्र राम मिलन सिंह निवासी खुशवक्तराय नगर राधा नगर चौकी सदर कोतवाली फतेहपुर का है जिसको 17/07/2020 दिनांक को उस के ही मित्र अश्वनी मिश्रा पुत्र स्वर्गीय राम मिलन मिश्रा निवासी गाजीपुर बस स्टॉप राधा नगर चौकी सदर कोतवाली फतेहपुर यह ग्राम व पोस्ट रारा का रहने वाला है,अंशुल वर्मा पुत्र रघुराज वर्मा निवासी गंगा नगर कॉलोनी खलीफा रोड राधा नगर चौकी सदर कोतवाली फतेहपुर, विनीत शुक्ला पुत्र कृष्ण मुरारी शुक्ला निवासी खुशवक्तराय नगर राधा नगर चौकी सदर कोतवाली फतेहपुर, अजय (पुलिस) पुत्र स्वर्गीय गजेंद्र सिंह निवासी देवीगंज दुर्गा मंदिर रोड के समीप राधा नगर चौकी सदर कोतवाली फतेहपुर, यह चार लोग उसी के घर से उसको जबरन कड़ा धाम पूजा करवाने के लिए लेकर गए थे जब मनीष को यह चारों लोग अपने साथ कड़ा धाम लेकर जा रहे थे तो मनीष के माता-पिता ने रोका कि,मनीष तुमने अश्वनी मिश्रा को ₹20000 मुझसे दिलाए थे जिसको वह आज तक नहीं दे पाया और उस पैसे के मामले में हमारी 15 दिन पहले ही उससे काफी नोकझोंक हुई है जिससे कहीं वह दुश्मनी न भंजाय लेकिन मनीष अपनी दोस्ती पर विश्वास करके इन चारों के साथ चला गया,मनीष सिंह का छोटा भाई आशीष सिंह पुत्र राम मिलन सिंह निवासी खुश वक्त राय नगर राधा नगर चौकी सदर कोतवाली फतेहपुर उसने बताया कि भैया यहां से 11:00 बजे निकल गए थे इन चारों लोगों के साथ में और मेरे पास 1:00 से 1:30 के बीच 17/07/2020 को फोन आता है भैया का, भैया मुझसे बोलते हैं कि आशीष चिंता मत करना मैं आधे घंटे में घर पहुंच जाऊंगा हम सब लोग साथ में ही हैं, फिर 2:30 बजे से 3:00 के बीच में गंगा गोमती संस्थान से विनय तिवारी नाम के व्यक्ति का फोन आता है और उसके द्वारा परिजनों को बताया जाता है कि आपका बेटा मनीष सिंह उर्फ शुभम सिंह गंगा नदी में डूब गया है जिसका कोई पता नहीं चल पा रहा है आप कुबरी घाट जल्द से जल्द आ जाएं मनीष के परिजन नो को जब ये सूचना मिलती है तो हड़कंप मच जाता है,परिजन खुश वक्त राय नगर चौकी जिला फतेहपुर से कौशांबी जिला कड़ा धाम कुबरी घाट के लिए यहां से रवाना होते हैं और वहां करीब 4:00 बजे पहुंच जाते हैं परिजनों ने बताया कि जब हम वहां 4:00 बजे पहुंचते हैं तो हमको वहां पर कोई भी एक व्यक्ति नहीं मिलता यहां तक कि एक पुलिस कर्मचारी भी नहीं मिला था फिर भी हम लोगों ने अपने बेटे मनीष को कुबरी घाट से काफी दूर तक एनडीआरएफ टीम की माध्यम से खोजने का प काम किया लेकिन हमारे बेटे का कुछ पता नहीं चला, मनीष के परिजनों का आरोप है की मेरा बेटा गंगा नदी में नहीं डूबा मेरे बेटे को यह लोग किडनैप कर लिए हैं और या तो पुरानी रंजिश के चलते मेरे बेटे को कहीं इन्होंने मार कर फेंक दिया है और विनय तिवारी नाम के व्यक्ति से गंगा नदी के घाट से फोन करवा दिया है कि घर वाले शक ना करें, परिजनों का आरोप है कि ये पूरी साजिश रची गई है हमारे लड़के को मारने के लिए परिजनों का कहना है कि तीतुर एक दुबला पतला व्यक्ति 1 मीटर के गमछे से 10 फीट की दूर खड़े तीन लोगों को कैसे बचा सकता है और यदि उन तीनों को बचा सकता है तो क्या मेरे लड़के को नहीं बचा सकता है क्या मेरा लड़का इनको नहीं दिखा जब चारों लोग एक ही साथ ही स्नान कर रहे थे यह लोग बता रहे हैं तो मेरा लड़का भी बचना चाहिए जब हमारी टीम कड़ा धाम कुबरी घाट पहुंची और वहां पर मौजूद लोगों से बात की तो पता चला तितुर नाम के व्यक्ति ने उन तीनों लड़कों की जान अपने गमछे से बचाई थी तीतर ने बताया कि मुझे यहां पर सिर्फ तीन लोग ही मिले थे हमने तितुर से बातचीत की तो उसने बताया कि मैं गंगा नदी से 150से 200 मीटर दूर बैठा था जब मुझे लड़कों की आवाज सुनाई दी तो मैंने दौड़ के अपना गमछा फेक के तीन लड़कों को बचा लिया परिजनों का कहना है कि खतरे का बोर्ड जो लगा है नदी के अंदर उसकी और जहां पर तीतर खड़ा था वहां से दूरी 10 फीट है 1 मीटर के गमछे से तीतर तीन लड़कों को एक साथ कैसे खींच सकता है, परिजनों ने बताया कि हमने कड़ा धाम थाना में एक एप्लीकेशन दिया था, जब हमारा कुछ दिमाग काम नहीं कर रहा था उस एप्लीकेशन में सही से हमने कुछ लिखा भी नहीं था,इसलिए हम जब दोबारा एप्लीकेशन देने के लिए कड़ा धाम पहुंचे तो हमें वहां के थानेदार ने भगा दिया और एप्लीकेशन लेने से साफ इंकार कर दिया जिससे हम अपने जिला फतेहपुर आके कई दिनों तक इधर-उधर अपने लड़के को खोजते रहे दर-दर भटकते रहे लेकिन हमारे लड़के का कुछ पता नहीं चला तब हमने अपने सदर कोतवाली फतेहपुर के कोतवाल साहब को एक एप्लीकेशन दिया जिससे उन्होंने तुरंत राधा नगर चौकी से दीवान साहब को कड़ा धाम जाने के लिए बोले और उनसे कहा कि आप वहां पर जाकर इनके साथ पूरा मौके का मुआयना करके आओ और हमें बताओ जिससे अपराधियों को तुरंत पकड़ा जाए और सख्त कार्रवाई की जाए ऐसा आश्वासन फतेहपुर सदर कोतवाली के कोतवाल साहब ने मनीष के परिजनों को आश्वासन दिया, जो मनीष के मित्र थे अश्वनी मिश्रा विनीत शुक्ला अंशुल वर्मा अजय पुलिस यह लोग इस समय फरार चल रहे हैं पुलिस जांच में जुटी है।।।