प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन के के ग्रैंड फिनाले (Grand Finale of Smart India Hackathon 2020) में अपनी बात रखेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने सोशल साइट पर यह जानकारी दी. उन्होंने ट्वीट किया, युवा भारत प्रतिभाओं से भरा पड़ा है. 1 अगस्त को 4.30 बजे मैं ( Grand Finale of Smart India Hackathon ) इस प्रतियोगिता में शामिल हुए फाइनलिस्ट से बात करूंगा और उनके काम के बारे में जानना चाहूंगा मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज हैकाथॉन की योजना को अंतिम रूप देने के लिए एक उच्च-स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की।

स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन चुनौतियों को हल करने के लिए डिजिटल तकनीक आधारित नवोन्मेष की पहचान करने की एक पहल है। मानव संसाधन विकास मंत्री ने बीते दिनों बताया था कि कोरोना महामारी को ध्‍यान में रखते हुए यह ऑनलाइन आयोजित किया जाएगा।  इसमें सभी प्रतिभागियों को विशेष तौर पर निर्मित एक उन्नत प्लेटफार्म पर एक साथ जोड़ा जाएगा।

इसमें 10 हजार से अधिक छात्र सरकारी विभागों और उद्योगों की 243 समस्याओं को हल करने के लिए प्रतिस्पर्धा करेंगे. इस आयोजन को लेकर तैयार लगभग पूरी कर ली गयी है

ग्रैंड फिनाले 1 से 3 अगस्त तक आयोजित किया जाएगा. मानव संसाधन विकास मंत्रालय की अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) द्वारा हैकथॉन का आयोजन किया जा रहा है. इस दौरान 10,000 से अधिक छात्र सरकारी विभागों और उद्योगों की 243 समस्याओं को हल करने के लिए प्रतिस्पर्धा करेंगे. एचआरडी मंत्रालय द्वारा स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन 2020 (SIH) को “दुनिया में अब तक का सबसे बड़ा ऑनलाइन हैकाथॉन” कहा जाता है.

जीतने वाली टीम को मिलेंगे एक लाख रुपये

स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन 2020 के 2020 सत्र के लिए, 37 केंद्र सरकार के विभागों, 17 राज्य सरकारों और 20 उद्योगों से 243 समस्या बयानों के समाधान प्रदान करने के लिए कुल 10,000 छात्रों ने एक-दूसरे के खिलाफ प्रतिस्पर्धा की. इन 10,000 छात्रों में से सर्वश्रेष्ठ अब 1 अगस्त को होने वाले ग्रैंड फिनाले में प्रतिस्पर्धा करेंगे. प्रत्येक समस्या बयान के विजेता को पुरस्कार राशि के रूप में 1,00, 000 रुपये दिए जाएंगे. छात्र नवाचार विषय के लिए, एचआरडी मंत्रालय ने पहले तीन पदों के लिए क्रमशः 1,00,000 रुपये, 75,000 रुपये और 50,000 रुपये के तीन पुरस्कारों की रूपरेखा तैयार की है.