सरांयअकिल के रसूलपुर टप्पा गांव में आरा मशीन के समीप सोमवार शाम शव को सड़क पर रखकर सरांयअकिल पुरखास मार्ग पर चक्काजाम करने वाले 30 नामजद समेत कुल 90 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

रसूलपुर टप्पा गांव में रविवार सुबह रंजिश को लेकर सुअर चराने गए नितेश पुत्र प्रेम की तमंचे से गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मंगलवार शाम पोस्टमार्टम के बाद नितेश का शव आने पर उसके स्वजनों समेत गांव के लोगों ने पुलिस पर अभद्रता करने व आरोपियों को बचाने का आरोप लगाकर आरा मशीन के पास सड़क पर शव रखकर बांस बल्ली लगाकर सरांयअकिल पुरखास मार्ग पर चक्काजाम कर दिया था।

चक्काजाम होने से सड़क के दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई थी। इस दौरान लोगों ने फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया न ही लोगों ने मास्क लगाया था।सूचना पर प्रभारी सीओ चायल सरांयअकिल, पिपरी व करारी थानों की फोर्स लेकर मौके पर पंहुचे। उन्होंने चक्काजाम करने वाले लोगों को समझने बुझाने का प्रयास किया तो लोग आक्रोशित होकर पुलिस से अभद्रता करने लगे।

मौके पर जिला पंचायत सदस्य जितेंद्र कुमार व समाजवादी नेता फुरकान सिद्दीकी के पंहुचने पर किसी तरह से समझाने बुझाने लोगों ने जाम समाप्त करके शव का अंतिम संस्कार किया।चक्काजाम करने व पुलिस से अभद्रता करने वाले लोगों को वीडियो से चिंहित करने के बाद मंगलवार सुबह प्रभारी थानाध्यक्ष राकेश चंद्र शर्मा ने 30 नामजद व 60 अज्ञात समेत कुल 90 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। मुकदमा दर्ज होने की सूचना सुनकर सड़क जाम करने वालों के होश उड़े हुए हैं।