संवाददाता आशुतोष मिश्रा

उन्नाव। 28 जुलाई 2020 को नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) नामक वैश्विक महामारी के चलते इससे निजात पाने के उद्देश्य से बनायी गई विभिन्न 11 समितियों की बैठक का आयोजन जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट कार्यालय कक्ष में किया गया।
जिलाधिकारी ने कोविड के मरीजों को हर सम्भव चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराये जाने के उद्देश्य से मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि कोरोना मरीज ट्रेसिंग टीम बनाकर कार्य करे। उन्होंने कहा कि कोरोना सैम्पलिंग, डिस्र्चाज सभी के लिय एक-एक टीत तैैयार कर कार्य करे जो कोरोना पाॅजिटिव व्यक्ति के काॅनटेक्ट ट्रेसिंग करेंगेे। उन्होंने कहा कि बहुत ही गम्भीरता से माइक्रो प्लानिग करके माइनटरिंग की जाये। कोरोना मरीज के पाॅजिव की सूचना मिलते ही तीन चार घण्टे मे उन्हें एल0वन0 अस्पताल पहॅुचाया जाये। सैम्पलिंग के साथ फीडिंग के कार्य भी अनिवार्य रूप से कराया जाये। इसके साथ ही डिस्चार्ज टीम बना ले टीम द्वारा डिस्चार्ज व्यक्तियों की सूची चार्ट के रूप में तैयार करे। होेम आइसोलेशन की टीम बना ले जो एल0वन0-1, एल0वन0-2 में जाने वाले मरीजो की लिस्ट बनायेगी।

जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिये कि इन टीमों को तैयार करने के लिये विभिन्न विभागों के अधिकारियों/कर्मचारियों के माध्यम से टीम तैयार करने के निर्देश दिये। यदि किसी नागरिक को कोविड-19 से सम्बन्धित किसी प्रकार के लक्षण प्रतीत हो रहे हो अथवा शारीरिक कष्ट हो तो ऐसे व्यक्ति जिला कलेक्ट्रेट में स्थापित और अनवरत 24 घण्टे संचालित कन्ट्रोल रूम को फोन नम्बर-0515-2820707 पर सूचित करें ताकि जिला प्रशासन उनकी जांच करा सके।

जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश देते हुये कहा कि कोरोना महामारी को गम्भीरता से किसी भी प्रकार की ढिलायी बरदास्त नही की जायेगी। उन्होंने कहा की प्लानिंग से कार्य किया जाये।
जिलाधिकारी ने कहा कि कन्टेमेंट जोन में किसी भी प्रकार की छुट नही दी जायेगी। वहा आवश्यक सेवाओे के अतिरिक्त किसी भी प्रकार की गतिविधियों को शक्ति से रोका जाये। उन्होंने कहा कि कोविड के मरीज जो ठीक होते जा रहे है उन्हेें डिस्चार्ज के बाद 07 दिन होमआईसोलेशन किया जाये। उसका भी नियमित अनुश्रवण किया जाये। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना संक्रमित परिवार, मोहल्ले एवं गांव के हर घर के प्रत्येक व्यक्ति का जांच किया जाये। अति आवश्यक कार्य से ही घर के बाहर लोग निकले। सोशल डिस्टेसिंग एवं मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से किया जायें। टैक्सी एवं आटो चालक खुद मास्क का प्रयोग करें और मास्क लगाये हुये ही व्यक्तियों को ही टैक्सी में बैठाये।
बैठक में कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्था, चिकित्सकों की उपलब्धता, स्वच्छता हेतु साफ-सफाई सेनीटाईजेशन कराने के निर्देश दिये। उन्होंने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिये कि गांव व अस्पतालों में झाडियों को कटवाया जाये व साफ-सफाई को बराबर कराते रहे।
जिलाधिकारी ने अपर मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश देते हुये कहा कि आशा बहुओं/आंगनवाणी को सुरक्षा व्यवस्था देते हुये उन्हें सेनीटाईजर, मास्क आदि उपलब्ध कराते हुये। नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में फागिंग व ब्लीचिंग पाउडर का छिडकाव कराया जाये। बैठक में आयुष कवच, आरोग्य सेतु को अधिक से अधिक व्यक्ति लोड कराये।
बैठक में पुलिस अधीक्षक रोहन पी कनय, मुख्य विकास अधिकारी डा0 राजेश कुमार प्रजापति, अपर जिलाधिकारी (न्यायिक) राकेश गुप्ता, मुख्य चिकित्साधिकारी, डा0 आशुतोष कुमार, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 आर0के0 गौतम, उप निदेशक सूचना डा0 मधु ताम्बे सहित समस्त सम्बन्धित उपस्थित रहे।