संवाददाता आशुतोष मिश्रा

जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार ने शिव नगर लखनऊ बाईपास बायो मीथेनेशन प्लान्ट एमआरएफ सेन्टर को निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने बताया कि स्वच्छता अभियान के तहत शहरी क्षेत्र में कूडा निस्तारण हेतु शासन द्वारा महत्वपूर्ण एमआरएफ सेन्टर बनाने का निर्णय लिया है। जिलाधिकारी ने कूडे को (सेग्रिगेशन) अलग-अलग करके गीले व सूखे कूडे को अलग-अलग करने के पश्चात सूखे कूडे को जैसे-प्लास्टिक, पन्नी, लकडी, एलूमीनीयम आदि पृथक-पृथक करके निस्तारित किया जायेगा, तथा सभी प्रकार के गीले कूडे को सड़ने वाला जैसे-किचन वेस्ट, रेस्टोरेन्ट वेस्ट एनीमल वेस्ट, स्लाटर हाउस वेस्ट, मंडी वेस्ट को भाभा एटोमिक रिसर्च सेन्टर द्वारा प्रमाणित टेक्नालोजी पर आधारित बायो मीथेनेशन प्लांट लगाया जा रहा है। इस पूरे संयत्र का 05 वर्ष तक रखरखाव व सभी प्रकार का संचालन फर्म द्वारा किया जायेगा। इसमे आर्गनिक खाद का उत्पादन होगा व मीथेन गैस का भी उत्पाद होगा। मीथेन गैस से बिजली बनाने का संयत्र भी लगाने का भी आगे कार्य किया जायेगा।
इसके उपरान्त उन्होंने ‘‘बालिका वाटिका’’ का भी निरीक्षण किया, जो स्वयं सेवी संस्थान-मलिन बस्ती विकास संस्थानध्नगर पालिका उन्नाव द्वारा पार्क तैयार किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने इस पार्क का सौन्दरीयकरण शीघ्र कराने को कहा। इस पार्क में लाइट वाकिंग ट्रैकध्फौवारा आदि लगाने के निर्देश भी दिये। जिलाधिकारी को अधिशाषी अधिकारी उन्नाव के द्वारा बताया गया कि सौन्दरीयकरण हेतु वाल पेंटिग का कार्य वृहद स्तर पर कराया जा रहा है। इस पेंटिग का कार्य नगर पालिका द्वारा स्वच्छ भारत मिशन योजना से की जा रही है। इस अवसर पर अधिशाषी अधिकारी आर0पी श्रीवास्तव, संस्थान के सदस्य आदि उपस्थित थें।