संवाददाता आशुतोष मिश्रा

उन्नाव ।शुक्लागंज/शनिवार को लाॅक डाउन को देखते हुये सुबह से ही पुलिस सडकों पर उतर आई। अधिकांश दुकानें बंद थी। जो दुकानें खुली दिखी। पुलिस ने सभी को बंद करा दिया। इसके साथ ही शनिवार को नागपंचमी का त्योहार होने के कारण लोग सामान लेने के लिये बाहर निकले। जहां पुलिस ने उन्हें डंडा पटक कर भगा दिया। वहीं पुराने यातायात पुल और नवीन पुल पर बेरीकेडिंग लगा कर यातायात रोक दिया गया। केवल आश्यक कार्यों को जाने वालों को ही आने जाने दिया गया।
शुक्रवार रात दस बजे से लॉक डाउन का पालन करने के निर्देश दिये गये थे। शनिवार सुबह से ही जो दुकानें खुली थी, उन्हंे बंद करा दिया। फोरलेन के दोनों ओर अधिकांश दुकानंे बंद थीं। नागपंचमी के त्योहार को देखते हुये लोग घरांे से बाहर निकल कर दूध लेने पहुंचे जहां पुलिस ने सभी को खदेड़ दिया। जिससे दूध, ब्रेड के लिये लोग भटकते रहे। कस्बे में अंदर की कुछ दुकानें चोरी छिपे खोली गई। जिससे लोगों को बड़ी मुश्किल से दूध, ब्रेड और आवश्यक चीजे मिल सकी। वहीं लॉक डाउन के बावजूद प्रशासन ने मेडिकल स्टोर और नर्सिंग होम खोलने की छूट दी है। मेडिकल स्टोर खुलने से लोगों को काफी राहत मिली। जरूरी दवाआंे के लिये मरीजों को भटकना नहीं पड़ा। वहीं मरहला चैराहे पर एक लेन पर बेरीकेडिंग लगा दी गई। इस दौरान सीओ सिटी यादवेन्द्र यादव ने वाहन चेकिंग कराई। जहां एक वैन में पुलिस लिखा होने पर उसका चालान कटा गया। वहीं लाॅक डाउन के चलते पुराने यातायात पुल और नवीन पुल पर बेरीकेडिंग लगाकर यातायात रोक दिया गया। कानपुर से आने और शुक्लागंज से जाने वाले लोगों को वापस कर दिया। केवल जरूरी काम से जाने वालों को ही निकलने दिया। बेवजह घूमने वालों को वापस कर दिया।