संवाददाता आशुतोष मिश्रा

उन्नाव। ग्राम चक हनुमान निवासिनी रमाकांती पत्नी स्वर्गीय राजेंद्र त्रिपाठी की विवाहित पुत्रियां निशा और लवली अभी करीब एक माह पूर्व अपने मायके आई थी और अपना जेवर यही अपनी मां की अलमारी में रख गई थी। शनिवार की रात रमाकांती अपने पुत्र गोलू त्रिपाठी तथा बहू सहित अन्य बच्चों के साथ अपने मकान की छत पर गहरी नींद में सो रही थी। तभी अज्ञात चोर दीवार के सहारे मकान के अंदर दाखिल हो गए और कुंडी तोड़कर कमरों में रखी तीन अलमारी और बॉक्स का लॉक तोड़ दिया। चोर अलमारी में रखा 68 हजार रुपया नकदी तथा करीब 20 लाख कीमत के सोने-चांदी के जेवर चोरी कर लिए। साथ ही चोरों ने घर के अंदर स्थित मंदिर के अंदर मूर्तियों के गले में पड़ा करीब एक लाख कीमत का जेवर भी चुरा लिया।बाद में चोरों ने रमाकांती के मकान से मात्र चंद कदमों की दूरी पर स्थित संतोष पुत्र सोबरन के मकान पर धावा बोला। इस मकान में भी चोर दीवार के सहारे ही घर में दाखिल हुए और कमरे में रखा संदूक तोड़कर 20 हजार की नकदी तथा 50 हजार के सोने चांदी के जेवर चोरी कर लिए। चोर यहीं नहीं रुके बल्कि उन्होंने इसी गांव के प्रमुख मार्ग पर स्थित राधे यादव पुत्र मुनेश्वर यादव के घर में भी दीवार के सहारे घुसे और अलमारी का ताला तोड़कर करीब 15 हजार की नकदी तथा 50 हजार कीमत के सोने चांदी के जेवर चोरी कर भाग निकले। आज प्रातः नींद खुलने पर गृह स्वामियों ने कमरों में बिखरा सामान देखा। तब उन्हें घटना की जानकारी हो सकी। भुक्तभोगी गृह स्वामियों द्वारा घटना की अलग-अलग तहरीर थाना बेहटा मुजावर पुलिस को सौंपी गई है। घटनास्थल पर पहुंच कर पुलिस जांच करने में जुटी हुई है।