संवाददाता आशुतोष मिश्रा

उन्नाव: जिले में बीते रविवार को एक जमीन पर निर्माण को अवैध बताकर ईओ ने बुलडोजर चलवा दिया था. इसके बाद ईओ और चेयरमैन के बीच विवाद हो गया. चेयरमैन का आरोप है कि उनके साथ बदसलूकी की गई और उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया. इसको लेकर बीजेपी विधायक पंकज गुप्ता, ब्लॉक प्रमुख अरुण सिंह और पीड़ित चेयरमैन के साथ ही अन्य चेयरमैन ने डीएम से मुलाकात कर शिकायत दर्ज करवाई है. डीएम ने पूरे मामले की जांच रिपोर्ट एडीएम राकेश सिंह को बुधवार को सौंपने की बात कही है.

गंजमुरादाबाद ईओ गौरव सिंह के खिलाफ बीजेपी विधायक, ब्लॉक प्रमुख और चेयरमैन ने मोर्चा खोल दिया. रविवार को एक भूमि पर किए गए निर्माण को अवैध बताते हुए गिराने के दौरान नगर पंचायत के अधिशाषी अधिकारी और अध्यक्ष के बीच नोकझोंक हो गई. मामले को लेकर दोनों पक्षों ने अपना-अपना पक्ष रखते हुए जिम्मेदार अधिकारियों को शिकायती पत्र देकर कार्रवाई की मांग की है. इससे अधिकारी बनाम जनप्रतिनिधि के रूप में मामले को तूल पकड़ता हुआ देखा जा रहा है.
ईओ के खिलाफ दी तहरीर
रविवार की शाम करीब 6 बजे ईओ गौरव सिंह ने प्रशासनिक अमला और पुलिस फोर्स के साथ जेसीबी लेकर एक निर्मित मकान को अवैध करार देते हुए उसे गिराने की प्रक्रिया शुरू कर दी. जानकारी होने पर नगर पंचायत अध्यक्ष रामनरेश कुशवाहा भी मौके पर पहुंच गए. इसके बाद नगर पंचायत अध्यक्ष ने निर्माण को लीगल तरीके से गिराने का हवाला देकर मकान को गिराने से मना किया. मगर इस दौरान जेसीबी मशीन ने टिन शेड मकान को गिरा दिया. इसी बीच दोनों लोगों के बीच नोकझोंक होने लगी. इसके बाद बीजेपी विधायक पंकज गुप्ता, ब्लॉक प्रमुख अरुण सिंह और पीड़ित चेयरमैन के साथ ही कई चेयरमैन डीएम के पास पहुंचे और शिकायत दर्ज कराई है. जानकारी देते बीजेपी विधायक पंकज गुप्ता
बीजेपी विधायक पंकज गुप्ता ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान ईओ नगर पंचायत गंजमुरादबाद ने एक बिल्डिंग को ढहा दिया. इसकी जानकारी नगर पंचायत अध्यक्ष को भी नहीं दी. अध्यक्ष ने ईओ से जानकारी मांगी तो उन्होंने उनके साथ बदसलूकी की. बिना प्रशासनिक अधिकारियों को जानकारी दिए ईओ ने अध्यक्ष पर मुकदमा दर्ज कराया जोकि दुर्भाग्यपूर्ण है. निर्वाचित जनप्रतिनिधि के खिलाफ इस तरह की कार्रवाई काफी खेदजनक है. मामले की शिकायत डीएम से की गई है. उम्मीद है कि ईओ के खिलाफ कार्रवाई होगी. इस तरह की स्थितियों में किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा.