संवाददाता आशुतोष मिश्रा

उन्नाव।सफीपुर कोतवाली क्षेत्र में  महारन झील में बांध लगा कर बनाए गए तालाब के पानी में डूब कर किशोर की मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है । अतहा गांव निवासी सचिन पुत्र अनिल उर्फ मिरचानी रविवार को परिजनों के साथ धान के पौधों की रोपाई के लिए साथ में गया था दोपहर बाद वह खाने का सामान लेने के लिए पावा गया था परिजन उसी महारन झील में ही कुछ भूमि के भूभाग पर धान की रोपाई कर पाये थे। किशोर उसी तालाब के किनारे से निकल कर पावा चौराहा गया था और शाम तक नहीं पहुंचा तो परिजनों ने खोज बीन शुरू की झील चकलवंशी परियर मार्ग के किनारे होते हुए गंगा नदी तक गयी है।खोखा पुर गांव के पास झील में कुछ दिन पहले जे सी बी मशीन से बांध बना कर तालाब बना दिया गया। जिसमे चारों ओर ऊंची मिट्टी का बंधा बना दिया गया है । बारिश का पानी उसी में एकत्र हो जाने से तालाब नुमा बन गया । जिसके बांध पर चढ कर देखा तो किशोर का शव पानी में पडा हुआ था जिसकी सूचना परिजनों ने पुलिस को दी गयी।जिस पर चौकी प्रभारी परियर के कृष्णानंद पांडे मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी होते ही कोतवाली प्रभारी सफीपुर भी मौके पर पहुंच गये। पुलिस ने शव को बाहर निकाला। तथा शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु जिला अस्पताल भेज दिया है

ग्रामीणों ने आरोप इमरान तौकीर सन ऑफ निजाम जोकि खोखा पुर गांव के मूल निवासी हैं ग्रामीणों ने आरोप लगाया के इमरान तौकीर सन आफ निजाम के दबंगई के चलते ताल के चारों तरफ बांस करवा दिया और जाने के लिए सही रास्ता भी नहीं छोड़ा जिसके चलते आज एक मासूम की जान गई है ग्रामीणों का कहना है कि इस पर कार्यवाही होनी चाहिए नहीं तो आगे चलकर और भी घटना घटित हो सकती हैं और ऐसे में शासन प्रशासन को ठोस कदम उठाना चाहिए