कानपुर । शहर शूटआउट के मोस्ट वॉन्टेड और शासन प्रशासन के लिए सिरदर्द बन चुका 5 लाख ₹ का इनामी विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया है बताया जा रहा है कि विकास दुबे ने मीडिया और पुलिस को बुलाकर सरेंडर किया है ।

 

कानपुर शूटआउट के मोस्टवॉन्टेड विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया है ।
गिरफ्तारी के समय फूल आस्तीन की धारीदार टी शर्ट और ग्रे कलर की पेंट के साथ मास्क लगाए हुए था ।
बताया जा रहा है कि विकास दुबे ने महाकालेश्वर मंदिर की 250 रुपये की पर्ची कटाई और इसके बाद खुद ही सरेंडर कर दिया उस के दो साथी बिटटू और सुरेश भी पकड़े गए हैं । फिलहाल, स्थानीय पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है यूपी पुलिस ने विकास दुबे की गिरफ्तारी की पुष्टि की है ।

बताया जा रहा है कि विकास दुबे ने बकायदा स्थानीय मीडिया को अपने सरेंडर की खबर दी थी इसके बाद उज्जैन के महाकाल थाने के पास उसने स्थानीय पुलिस के सामने सरेंडर किया है । पुलिस ने आरोपी विकास दुबे को गिरफ्तार कर लिया है और उसे महाकाल थाने में लेकर आई है । सरेंडर की खबर के बाद एसटीएफ की टीम उज्जैन रवाना हो गई है ।
वहीं सूत्रों की माने तो पहले विकास मंदिर परिसर में घूम घूम कर फ़ोटो खिंचवाता रहा । वही इस कि नाटकीय गिरफतारी ने कई सवाल खड़े कर दिए है जो अपराधी कल तक फिरोजाबाद में देखा गया वो आज इतनी दूरी तय कर के उज्जैन कैसे पहुँच गया वही आज सुबह उस को नोयडा में भी देखे जाने की खबर थी ।
उस की गिरफ्तारी के बाद महाकाल थाने से उस को अज्ञात स्थान पर रख्खा गया है तथा मीडिया से दूरी रख्खी गई है ।

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना कहै कि अभी विकास दुबे मध्य प्रदेश पुलिस की कस्टडी में है. गिरफ्तारी कैसे हुई? इसके बारे कुछ भी कहना ठीक नहीं है. मंदिर के अंदर से या बाहर से गिरफ्तारी को लेकर कहना भी ठीक नहीं है । उसने क्रूरता की हदें शुरू से ही पार कर दी थी. वारदात होने के बारे से ही हमने पुलिस को अलर्ट पर रखा था ।