लालापुर प्रयागराज

 

मंदिरो का पठ बन्द होने से भक्त न हो परेशान,पूजा पाठ न करे बन्द हिन्दू धर्म के अनुसार अपने अपने घरों में पार्थिव लिंग बनाकर शिव पूजन जरूर करें

✍️लालापुर प्रयागराज वासियो और सच्चे भक्तो को अवगत कराना है कि सावन का महीना चल रहा है और हिंदू धर्म के अनुसार सावन मास को शिव जी का माह माना जाता है, इन दिनों में पार्थिव लिंग बनाकर शिव पूजन का विशेष पुण्य मिलता है।शिवपुराण में पार्थिव शिवलिंग पूजा का महत्व बताया गया है। सच्चे मन से जो इनका पूजन करता है उसकी सारी मोनकामना भगवान पूरी करते हैं।कलयुग में कुष्मांड ऋषि के पुत्र मंडप ने पार्थिव लिंग पूजन प्रारंभ किया था। शिव महापुराण के अनुसार पार्थिव लिंग पूजन से धन-धान्य,आरोग्य,अकाल मृत्यु का भय समाप्त हो जाता है और पुत्र की प्राप्ति होती हैं वही मानसिक और सभी शारीरिक कष्टों से भी मुक्ति मिलती हैं।सनातनी आस्था धरती माता है सूर्य भगवान है,पार्थिव शिव परिवार पूजा हमारा धर्म है सत्य है प्रेम है,अन्न भगवान है,पांचो तत्वो की पूजा गो, ब्राह्मण की पूजा आदर कर्तव्य है,किसी को परेशानी किस लिए।इससे किसी को परेशानी नही होनी चाहिये। क्योंकि पंचतत्वों में भगवान शिव पृथ्वी तत्व के अधिपति हैं। पार्थिव शिवलिंग एक या दो तोला शुद्ध मिट्टी लेकर बनाए जाते हैं।इस शिवलिंग को अंगूठे की नाप का बनाया जाता है।

*लालापुर रामजानकी जनकल्याण समिति अध्यक्ष शिवेंद्र पण्डेय*।