कंप्यूटर एप्लीकेशन में मास्टर (MCA) डिग्री पूरा करने की इच्छा रखने वाले छात्रों के लिए जरूरी खबर है। ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (AICTE) ने एमसीए डिग्री प्रोग्राम में बदलाव किया है। काउंसिल ने इस एकेडमिक वर्ष (2020-21) से एमसीए प्रोग्राम की अवधि 3 वर्ष से घटाकर 2 वर्ष कर दी है। अब एमसीए डिग्री कोर्स सिर्फ दो वर्ष का ही होगा। इस निर्णय से छात्रों को बड़ी राहत मिली है। बता दें कि इस संबंध में काउंसिल ने सर्कुलर भी जारी कर दिया है। साथ ही, काउंसिल ने सभी संबद्ध विश्वविद्यालयों और कॉलेजों को सर्कुलर भेज दिया है।

एआईसीटीई द्वारा जारी ऑफिशियल नोटिस के अनुसार, 19 दिसंबर 2019 की बैठक में यूजीसी के समक्ष 3 साल से घटाकर 2 साल तक एमसीए कार्यक्रम की अवधि में बदलाव का प्रस्ताव रखा गया था। जिसे अब मंजूरी दे दी गई है। इसलिए, वर्ष 2020-21 से एमसीए कोर्स 2 साल की अवधि का ही होगा। नए शैक्षणिक सत्र से एमसीए प्रोग्राम को नए सिलेबस की अवधि के अनुसार ही पूरा कराया जाएगा। एआईसीटीई ने अधिक से अधिक छात्रों को इस कोर्स के प्रति आकर्षित करने को लेकर ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया है।

बता दें कि पहले एमसीए कोर्स दो साल से लेकर तीन साल तक दो अलग-अलग अवधि का होता था। जो छात्र बीएससी कंप्यूटर साइंस या बीसीए करने के बाद एमसीए कोर्स में प्रवेश करते थे, उनकी डिग्री दो साल में संपन्न होती थी। वहीं, यूजी में में मैथ्स के साथ अन्य कोई कोर्स करने वालों के लिए एमसीए तीन वर्ष का होता था। जबकि, अब सभी छात्रों के लिए एमसीए कोर्स दो वर्ष की अवधि का ही होगा।

बता दें कि मीडिया रिपोर्ट्स से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, एमसीए प्रोग्राम में नामांकन संख्या में गिरावट आई है। वर्ष 2019-2020 में इस कोर्स को लिए दाखिला लेने वालों की संख्या, वर्ष 2015-16 की तुलना में काफी कम हो गई है। इन्हीं कारणों के मद्देनजर एआईसीटीई ने एमसीए कोर्स की अवधि में बड़ा बदलाव किया है।