संवाददाता आशुतोष मिश्रा

उन्नाव। जिले के नोडल अफसर ने तहसील बीघापुर के स्वास्थ्य केंद्रों का औचक निरीक्षण कर हकीकत जानी। इस दौरान नोडल अफसर किसी भी स्वास्थ्य केंन्द्र प्रवेश किए बगैर खानापूर्ति कर वापस लौट आए।
मंगलवार को जिले के नोडल अधिकारी उमेश प्रताप सिंह ने तहसील बीघापुर के, सुमेरपुर पीएचसी, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भगवन्त नगर, ऊंचगांव व पाटन सीएचसी का दौरा किया। नोडल अधिकारी किसी भी स्वास्थ्य केंद्र में प्रवेश से बचते हुए प्रभारी चिकित्सक को गेट पर ही बुला कर जानकारी ली। लगभग सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में नोडल अफसर के पहुंचने की सूचना पहले से ही थी। जिसके चलते व्यवस्थाएं सभी जगह ठीक मिली। अस्पतालों के अंदर प्रवेश न करने के कारण अंदर की व्यवस्थाओ का पता नही चल सका। उन्होंने अस्पताल के गेट पर ही चिकित्सक को बुलाकर कोविड-19 डेस्क के आंकड़े और ओपीडी में मरीजों की संख्या की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने सांप के काटने के इंजेक्शन व रैबीज इंजेक्शन आदि के अलावा सर्दी जुकाम के मरीजों की संख्या भी पूछी। कोविड-19 की जांच से संबंधित उपकरणों के संबंध में भी जानकारी ली। डॉक्टरों ने सभी जगह अव्यवस्था की बात बताई। इस पर उन्होंने आश्चर्य व्यक्त किया। निरीक्षण के दौरान एसडीएम बीघापुर दया शंकर पाठक भी मौजूद रहे।