लखनऊ/कानपुर। स्वास्थ्य के क्षेत्र में देश को आत्मनिर्भर बनाने के अभियान में अनवरत कार्यरत डॉ आर के राणा ने इंटरनेशनल नेचुरोपैथी आर्गेनाइजेशन की सदस्यता व वर्तमान पद से त्यागपत्र दे दिया है। एक भेंटवार्ता में श्री राणा ने बताया कि सामाजिक कार्यों में अधिक व्यस्तता के कारण अब मैं आई एन ओ के कार्यों के लिए समय नहीं दे सकता। अब मैं पूर्णतया माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा देश को आत्मनिर्भर बनाने के स्वप्न को साकार करने के लिए मैं तन,मन,धन से प्रत्येक परिवार को स्वास्थ्य के क्षेत्र में कार्य आत्मनिर्भर बनाने के लक्ष्य को पूरा करूंगा। मैंने संकल्प लिया है कि मैं अपने जीवन के प्रत्येक क्षण को इस अभियान में समर्पित करूँगा। उन्होंने बताया कि वर्तमान परिवेश में चिकित्सा खर्च बहुत महंगा हो रहा है, ऐसे में प्रत्येक परिवार को स्वास्थ्य के प्रति स्वाबलंबी होना पड़ेगा। उन्होंने आई एन ओ के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अनंत बिरादर जी व आई एन ओ के सभी कार्यकर्ताओं को अपनी शुभकामनाएं दीं। डॉ आर के राणा ने आई एन ओ के संस्थापक चेयरमैन पदम श्री जयप्रकाश जी अग्रवाल के प्रति अपनी श्रद्धा व्यक्त करते हुए पदम श्री जयप्रकाश जी के उत्तम स्वास्थ्य एवं दीर्घायु जीवन की कामना की है, जिन्होंने नेचुरोपैथी के प्रचार प्रसार के लिए अपना जीवन समर्पित किया है।