लॉकडाउन की वजह से करीब ढाई महीने से सिनेमाघर बंद पड़े हैं, ऐसे में मेकर्स के सामने फिल्म रिलीज़ करने का संकट आकर खड़ा हो गया है। जो फिल्में रिलीज़ के लिए अटकी हुई हैं उन्हें लेकर लगातार ये चर्चा हो रही है कि वो डिजिटल प्लेटफॉर्म पर रिलीज़ हो सकती हैं। इसी बीच कंगना रनोट की अपकमिंग फिल्म ‘थलाइवी’ को लेकर भी ये खबरें आईं कि मेकर्स उसे डिजिटल प्लेटफॉर्म पर रिलीज़ करने का मन बना रहे हैं। लेकिन इन खबरों पर ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने विराम लगा दिया है।

तरण ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर ट्विटर पर इन खबरों को पूरी तरह ग़लत बताया है। तरण ने ट्वीट कर ये जानकारी दी है कि ‘थलाइवी’ OTT प्लेटफॉर्म पर रिलीज नहीं होगी। तरण ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘जरूरी खबर… जयललिता की बायोपिक थलाइवी के OTT प्लेटफॉर्म पर रिलीज़ होने की खबरें झूठ हैं। फिल्म पहले थिएटर में रिलीज़ होगी। फिल्म डिजिटल रिलीज़ भी होगी लेकिन सिनेमाघरों में रिलीज़ होने के बाद’।

थलाइवी’ की शूटिंग में अब यहां आ सकती हैं दिक्कतें

दरअसल,  महाराष्ट्र सरकार ने फिल्मी शूटिंग और अन्य गतिविधियों के लिए 15 जून से अनुमति दे दी है और कुछ दिशा-निर्देश भी जारी किए हैं। इन निर्देशों के हिसाब से थलाइवी के कई सीन्स शूट नहीं हो पाएंगे। बॉलीवुड हंगामा की रिपोर्ट के अनुसार, फिल्म का एक क्लाइमेक्स सीन शूट किया जाना है और इस सीन में 300 लोगों की आवश्यकता है, लेकिन कोरोना वायरस के संकट में इतने व्यक्ति एक साथ खड़े होना भी मुश्किल है। सरकार की दिशा-निर्देश के अनुसार भी ये सीन शूट नहीं किया जा सकता।