उन्नाव में डीएम व एसपी ने बाढ़ सुरक्षा के लिए दिए कड़े निर्देश

0
304

संवाददाता आशुतोष मिश्रा

उन्नाव।जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार एवं पुलिस अधीक्षक विक्रान्त वीर ने आज संयुक्त रूप से शुक्लागंज नये पुल के पास सिंचाई एव जल संसाधन विभाग द्वारा जनपद उन्नाव में शुक्लागंज के पास गंगा नदी के बाएं तट पर स्थित रविदास नगर, शक्ति नगर को बाढ़ से सुरक्षा हेतु डेªजिंग एवं चैनलाइजेशन कार्य की परियोजना की प्रगति कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया।

जिलाधिकारी ने बताया कि गंगा कटान को रोकने के लिये सिंचाई विभाग द्वारा ड्रेजर के माध्यम से गंगा नदी की धारा को बीच में लाने के उद्देश्य से डेªजिंग का कार्य प्रारम्भ काराया गया है। इस कार्य में खन्न विभाग, सिचाई विभाग तथा बैराज याॅत्रिक अनुरक्षण विभाग के माध्यम से कार्य होना है। इसकी रूप रेखा अपर जिलाधिकारी के माध्यम से तैयार कर अग्रिम कार्यवाही हेतु निर्देश दिये गये है। उन्होंने बताया कि गंगा नदी के बाएं तट पर स्थित रविदास नगर, शक्ति नगर को बाढ़ से सुरक्षा के उपाय अभी से तलासे जा रहें है। ताकि आने वाली बाढ़ से इन गांव को बचाया जा सके। ये कार्य जनहित में किया जा रहा है। जो आवादी बाढ़ से प्रभावित होती है। उसी को रोकने के उद्देश्य से शासन के दिशा निर्देशों के अनुसार कार्य कराया जा रहा है।

जिलाधिकारी को सहायक अभियन्ता सिंचाई एस0पी0 सिंह ने बताया कि डेªजिंग एवं चैनलाइजेशन कार्य की परियोजना का कार्य युद्ध स्तर पर तकनीकी तरीके से कराया जा रहा है। गंगा नदी के पानी का प्रेेसर कम करने के उद्देश्य से गंगा के प्रवाह को मोडने का कार्य चल रहा है। जो निर्धारित समय सीमा में पूरा कराये जाने का प्रयास किया जायेगा, तथा आबादी की तरफ पानी का दबाव कम रहेगा। जिलाधिकारी ने उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिये कि शासन की गाइड लाइन के अनुसार सभी औपचारिक नियमों का पालन काड़ाई से किया जाये। रविदास नगर, शक्ति नगर को बाढ से सुरक्षा हेतु पूरे प्रबन्ध पहले से ही कर लिये जाये। खन्न अधिकारी को निर्देश दिये कि गंगा नदी की बालू को हटाने एवं उचित कार्यवाही हेतु निविदाएं एवं आवश्यक कार्यवाही तत्काल पूरी कारायी जाये।

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक विक्रान्त वीर, अपर जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह, नगर मजिस्ट्रेट चन्दन पटेल, सहायक अभियन्ता सिचाई एस0पी0 सिंह, अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका गंगा घाट सुनील मिश्रा सहित सिचाई/खन्न तथा बैराज आदि विभागों के अधिकारी कर्मचारी आदि उपस्थित रहें।