संवाददाता आशुतोष मिश्रा

उन्नाव।जनपद में 26 मई को हुए ट्रिपल मर्डर का पुलिस ने गुरुवार को खुलासा कर दिया. महज 72 घंटे के अंदर पूरे हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने मुख्य आरोपी प्रेमी वीरेंद्र और छोटू को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. जबकि, इस मामले में फरार तीसरे आरोपी अनिल की तलाश में दबिश दी जा रही है,
बता दें कि, 26 मई को औरास थानाक्षेत्र के पूरनखेड़ा गांव के बाहर तालाब के किनारे एक महिला और दो बच्चियों का शव पड़ा मिला था. जिसके बाद ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. मृतक महिला की पहचान सरोजनी और दोनों बच्चियों सरोजनी की बेटी शिवानी और रोशनी के रूप में हुई थी. मृतक महिला और उसकी बेटियों के शव उसके मायके से करीब 800 मीटर पहले मिले थे. जिसके बाद एसपी विक्रान्तवीर ने मामले के खुलासे के लिए सर्विलांस टीम समेत तीन टीमों को लगाया. शुरुआती जांच में पारिवारिक कलह की बात सामने आने पर औरास पुलिस ने मृतक महिला के पति अनन्तु और उसके भाई को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की. जांच में मृतक महिला का पति हत्या की बात से इनकार कर रहा था. साथ ही मृतक महिला के पति ने पत्नी के मोबाइल के साथ ही उसके कान के झुमके गायब होने की बात पुलिस को बताई.घटना का खुलासा करते हुए एसपी विक्रान्तवीर ने बताया कि घटना की रात मृतक महिला और उसके पति के बीच झगड़ा हुआ था. जिसके बाद मृतक महिला ने अपने प्रेमी वीरेन्द्र को घटना की जानकारी देकर पति से छुटकारा दिलाने की बात कही. जिसके बाद घटना की रात महिला का प्रेमी वीरेंद्र अपने दोस्त छोटू और अनिल के साथ बाइक से सैदापुर पहुंचे थे. जिसके बाद वीरेंद्र ने रात के अंधेरे में महिला और उसकी दोनों बेटियों को गांव के बाहर बुलाया और फिर उन्हें लेकर पूरनखेड़ा के लिए निकल पड़ा.पुलिस सूत्रों के अनुसार वीरेंद्र ने पहले प्रेमिका के साथ संबंध बनाए. साथ ही वीरेंद्र के साथियों ने भी महिला से जोर जबरजस्ती की. मृतक महिला ने जोर जबरजस्ती की शिकायत परिजनों से करने की धमकी दी. जिस कारण वीरेंद्र ने साथियों के साथ मिलकर महिला और उसकी बेटियों की हत्या कर दी।