सड़क हादसे में एक बेटे की दर्दनाक मौत, वहीं पिता और दूसरा पुत्र हुए घायल, सूचना के बाद भी नही पहुंची एम्बुलें

कौशाम्बी। मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के समदा ओसा रोड पर साइकिल से जा रहे पिता और उसके दो पुत्र मजदूर किसी काम से जा रहे थे। तभी एक ट्रक ने जोरदार टक्कर मार दी। ट्रक ने पहले ट्रैक्टर में टक्कर मारा उसके बाद मजदूरों को टक्कर मारकार भाग रहा था लेकिन ओसा चौराहे के पास कुछ ग्रामीणों ने ट्रक को पकड़ लिया। टक्कर से मजदूर के एक पुत्र की घटनास्थल पर ही मौत हो गई और दूसरा पुत्र व पिता गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसे की जानकारी मिलते ही मौके पर हल्का इंचार्ज रवि शंकर पहुँचे और घायलों को अस्पताल पहुंचाने के लिए एम्बुलेंस को फोन करते रहे लेकिन काफी देर तक घटना स्थल पर एम्बुलेंस नही आई। जिससे मौके पर पिता पुत्र तड़पते रहे लगभग पौन घंटे बाद मंझनपुर थाना इंचार्ज के पहुंचने पर जब ग्रामीणों द्वारा कहा गया कि जब एम्बुलेंस नही आ रही तो अपनी गाड़ी से अस्पताल भेजो तब पुलिस ने अपने वाहन से घायलो को अस्पताल भेजा।
ग्रामीणों ने की ब्रेकर बनाने की मांग
इस क्षेत्र में आये दिन हादसे होते है। खुली सकड़ पर बेखौफ तेज रफ्तार में चल रहे वाहनो से दुर्घटना का अंदेशा रहता है। जिसपर ग्रामीणों ने प्रशासन से ब्रेकर बनाने की मांग की थी।
अधिकारियों ने ब्रेकर बनाने की मांग को माना था लेकिन ब्रेकर नहीं बना। आज भी लोगों ने इस बात को उठाया तो मौके पर पहुंचे एसडीएम ने कहा कि यहां पर ब्रेकर बनना जरूरी है। मंझनपुर थाना क्षेत्र के ग्राम ओसा निवासी राकेश कुमार रैदास कादीपुर में एक ईट भट्ठे में मजदूरी करता है भट्ठे से काम करके वह वापस घर आ रहे थे साथ मे अपने दोनों पुत्रों को भी वह साइकिल में बैठाए थे। गौरा गाव के पास अनियंत्रित डम्फर ने पहले ट्रैक्टर को टक्कर मारा जिससे मजदूर की साइकिल भी चपेट में आ गयी। जिससे मजदूर के लड़के लवलेश 12 वर्ष की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गयी और छोटा लड़का छोटू 10 वर्ष भी घायल हो गया साइकिल सवार राकेश भी गंभीर घायल है पिता पुत्र दोनों घायल का इलाज जिला अस्पताल के चल रहा है। और मृतक लवलेश की लाश को पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

टुडे इंडिया लाइव न्यूज़
जैसी हकीकत वैसी खबर
राहुल द्विवेदी ब्यूरो चीफ कौशाम्बी