संवाददाता आलोक निगम

उन्नाव। अवैध अस्पतालों के कार्यवाही के नाम पर पत्रकारों को गुमराह करने का प्रयास करते हैं उन्नाव सीएमओ कैप्टन आशुतोष कुमार।
अवैध अस्पतालों के सुविधा शुल्क के एहसान तले दबा है उन्नाव का स्वास्थ्य विभाग।
जिले में शहर कोतवाली क्षेत्र में ललऊ खेड़ा हरवंश रॉय बच्चन कॉलेज के बगल में स्थित पुष्पा हॉस्पिटल और गदन खेड़ा चौराहे स्थित मॉ हॉस्पिटल और सीएमओ कार्यालय के पास नवनिष्ठा हॉस्पिटल अवैध रूप से हो रहा है संचालित।
मानकों को ताक पर पुष्पा हॉस्पिटल,नवनिष्ठा हॉस्पिटल और माँ हॉस्पिटल मरीजो की जिंदगियों से कर रहा खिलवाड़
नगर बांगरमऊ में भी अवैध नर्सिंग होम ओके आई बाढ़ डिप्टी सीएमओ द्वारा जांच के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति कई हॉस्पिटलों के लिए उप जिलाधिकारी ने डिप्टी सीएमओ को लाइसेंस निलंबन विधि रिपोर्ट उप जिला अधिकारी की रिपोर्ट ठंडे बस्ते में।
क्लिनिकल इस्टैब्लिशमेंट एक्ट का हो रहा उल्लंघन
जेल हॉस्पिटल में तैनात डॉक्टर वंश बहादुर सिंह और बीघापुर सीएची में तैनात संविदाकर्मी अनुपमा सिंह का है पुष्पा हॉस्पिटल बिछिया सीएची में तैनात डॉक्टर श्रुती सिंह का है नवनिष्ठा हॉस्पिटल और माँ हॉस्पिटल चलता है रिसेप्शनिस्ट के सहारे।

जिला जेल में एनस्थीसिया के डॉक्टर है वंश बहादुर सिंह

कई प्राइवेट अस्पताल में अपनी सेवाएं दे रहे है वंश बहादुर सिंह

अवैध तरीके से हॉस्पिटल चला रही है डॉक्टर श्रुती सिंह

जिला जेल में तैनात डॉक्टर वंश बहादुर सिंह जेल में ड्यूटी न करके सारा दिन अपने मानक विहीन पुष्पा हॉस्पिटल में रहता है।
सूत्रों की मानें तो पुष्पा हॉस्पिटल ग्राम समाज की जमीन पर अवैध रूप से एक हिस्सा कब्जा किये हुए है इसका होगा जल्द खुलासा।