?कोरोना से स्वयं बचे और
अपने घर परिवार को भी बचाये,
घर पर रहे, सुरक्षित रहे
परदेशियों से दूरी बनाए

✍️चोरी -छिपे शहरों और परदेशियों के गांव आने से कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है।

✍️शहरों की बड़ी आबादी गांव की ओर मूव कर रही है इसके क्या इंतजाम हैं?गांव में आने वाले परदेशियों को जागरूक करने तथा संदिग्ध होने पर प्रशासन को इनकी जानकारी दे व परदेशियों को 14 से 21 दिनों तक एकांत मे रहने को प्रेरित करने का कार्य ग्रामप्रधान, सेक्रेटरी के साथ आशा बहुओं द्वारा निगरानी समिति बनाया गया है।निगरानी समिति के माध्यम से गम्भीर समाजसेवी लोगो को समिति में जोड़कर ग्राम प्रधान, आशा बहुएं, मास्क, के माध्यम से गांवों में भ्रमण करके परदेशियों की सूचना इकट्ठा कर रही हैं ।किसी भी गांव में परदेशियों की आने की सर्व प्रथम ग्राम प्रधान,आशा,या निगरानी समिति के सदस्यों को सूचना दे। हर एक वॉर्ड में बनाये गए है निगरानी समिति सदस्य ।

*रामजानकी जनकल्याण समिति लालापुर प्रयागराज*।