लगातार आंधी का दंश झेल रहे ग्रामीण जहां एक और हमारा देश लाक डाउन का दंश झेल रहा है वहीं दूसरी ओर लगातार आंधी-पानी की मार ने लोगों का जीवन दूभर कर दिया है लगातार आंधी पानी से कहीं किसी की दीवार गिरी तो कहीं हरे भरे वृक्ष लोगों के घरों पर गिरकर उनका आशियाना ही छीन लिया आंधी की बयार ऐसी चली कि सड़क किनारे का पेड़ सीताराम द्विवेदी शंकरगढ़ के मकान के ऊपर गिर कर उनका टीनसेड चकनाचूर करते हुए दीवार को भी क्षतिग्रस्त कर दिया जिससे वहीं पर बैठा उनका लड़का घायल होने से बाल-बाल बचा । आगे विदित हो कि लगातार आंधी पानी एवं लाक डाउन के चलते कुछ ग्रामीणों का कथन है कि भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार द्वारा निचले तबके के लोगों के लिए कई प्रकार की सरकारी सुविधाएं दी जाती हैं एवं उच्च वर्ग स्वतह सक्षम है परंतु मध्यमवर्ग जो समाज का एक बहुत बड़ा कुनबा है वह केवल अपने पशोपेश में फंसा हुआ है जिसका ना तो समाज और ना ही सरकार द्वारा कोई इन के हित के लिए ध्यान दिया जाता है अतः ग्रामीणों ने प्रदेश सरकार से आग्रह किया कि मध्यम वर्ग के हित के लिए भी कोई ठोस कदम उठाए जाएं । संवाददाता – कृष्ण चंद्र शुक्ला