संवाददाता अमित वर्मा

शुक्लागंज। राजधानी मार्ग स्थित सहजनी के निकट लगभग 15 साल पहले शुक्लागंज के क्रिकेट प्रेमी युवाओं की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए तत्कालीन भाजपा सांसद ने अपनी निधि से यहां पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्टेडियम को लगभग 20 लाख रुपये की लागत से बनवाया था। लेकिन शासन और प्रशासन की उपेक्षा के चलते आज यह स्टेडियम अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा है। जब यह स्टेडियम बनकर तैयार हुआ था तो यहां के युवा खिलाड़ियों को ऐसा लगा था कि मानों अब उन्हें क्रिकेट मैच और आर्मी का अभ्यास के लिये कहीं अन्यत्र शहरों में नहीं जाना पड़ेगा। प्रदेश में जब तक भाजपा सरकार रही तब तक तो स्टेडियम चमचमाता अब फिर से भाजपा सरकार ने स्टेडियम को ऐसा ग्रहण लगा कि आज तक उसकी कालिमा बरकरार है। इस संबंध में भाजपा के तत्कालीन सांसद देवी बख्श सिंह का कहना है कि यह स्टेडियम भाजपा के बाद आने वाली सरकारों की घटिया राजनीति की भेंट चढ़ गया। उनका तर्क था कि कोई भी चीज यदि अच्छी भावना से युवा वर्ग के बच्चों के खेल के लिये बनवाई गयी है थी । लेकिन न तो सरकारों ने ध्यान दिया न ही प्रशासन ने उनकी देख रेख की जिम्मेदारी केवल जो युवा तैयारी करते है वो लोग ही निभा रहे । हश्र सामने है। देखते ही देखते स्टेडियम पूरी तरह से ध्वस्त हो गया। कल दिनांक 5.5.2020 दिन मंगलवार को तेज़ तूफान आने के कारण जो स्टेडियम में टिन सेड लगा था वह उड़कर बहुत दूर जाकर गिरा सूचना मिलने पर जो स्टेडियम के कार्यकर्ता वह मौके पर पहुंचे और व्यवस्था को देख रेख की टीन सेड को सुरक्षित रखा गया मौके पर पहुंचे लोग अजय सिंह जी राकेश सिंह जी श्याम राठौर अरविंद गुप्ता पुलकित यादव अन्य लोग मौजूद रहे।