फिर एक किसान की हत्या से जनपद में मची सनसनीकौशांबी। सबकुछ लॉक डाउन है लेकिन अपराधी बेखौफ है उन्हें न तो कोरोना वायरस का खौफ है और ही कानून का। ये बेखौफ अपराधी लगातार वारदात को अंजाम दे रहे है। अभी कुछ दिन पहले ही नलकूप में सो रहे किसान की हत्या की वारदात हुई थी। जिसके आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेज दिया था। इसके बाद आज फिर एक नलकूप में सो रहे एक किसान को अज्ञात हत्यारों ने मौत के घाट उतार दिया। बता दें कि चरवा थाना क्षेत्र के चरई गांव मे अज्ञात बदमाशों ने ट्यूबबेल मे सो रहे किसान को धारदार हथियार से मौत के घाट उतार दिया। चरई गांव निवासी सोहन लाल पाल पुत्र फगुहार प्रतिदिन की तरह अपने नलकूप पर सो रहा था। बीती रात अज्ञात बदमाशों ने धारदार हथियार से हत्या कर दी। सुबह जब परिजन ट्यूबबेल गए तो उन्होंने खून से लथपथ सोहन लाल पाल को मृत पाया। हत्या की सूचना पर चरवा पुलिस घटना स्थल पर पहुंचकर घटना की तहकीकात मे जुटी है। हालांकि परिजनो में कुछ लोगो पर आरोप लगाया है। फिलहाल पुलिस इस अंधी हत्या के आरोपियों की तलाश कर रही है।
किसानों में भय का माहौल
नलकूप में सो रहे किसान की हत्या की इस दूसरी वारदात से किसानों में भय का माहौल व्याप्त हो गया है। कुछ लोगो ने कहा कि यदि बदमाशो को कानून का डर नही रहेगा तो अंधेरे में किसानों का घर से निकलना मुश्किल हो जाएगा। बदमाश किस बात पर किसकी हत्या कर दे क्या पता। ऐसे में बदमाशों पर लगाम लगना चाहिए। एक तरफ खेत ताकने को जरूरत होती है तो दूसरी तरफ बदमाशो का भय रहता है ऐसे में न तो हम लोग खेती कर पाएंगे और न ही सुरक्षित महसूस कर पाएंगे। इसलिए पुलिस उच्चाधिकरियों से मांग की है कि बदमाशों में कानून का भय होना चाहिए। जिससे आम जनता सुरक्षित अपने कार्यो को हर समय कर सके। फिलहाल कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ाई और बदमाशो पर लगाम कसना पुलिस के लिए चैलेंजिंग है।

राहुल द्विवेदी ब्यूरो चीफ
टुडे इंडिया लाइव न्यूज़
कौशाम्बी