जिला, चित्रकूट 1-5-2020
ब्लॉक तहसील, म ऊ
,,धर्मराज निषाद पिता नत्थू निषाद एवं12 संदिग्ध लोग उल्लासनगर 5नम्बर नूराबाडा से पैदल नासिके होते हुए टृक के माध्यम से up चित्रकूट मे प्रवेश करते हुए मव ई कलाँ मे प्रवेश किया धर्मराज निषाद को बचाने के लिए ग्राम प्रधान रामनरेश निषाद ने न तो प्रशासन को इस बात की जानकारी दी और न ही हमारे द्वारा फोन किये जाने पर हमें सच से अवगत कराया क्योंकि ग्राम प्रधान की लापरवाही के चलते पूरे गांव मे दहशत भय का माहौल बना हुआ है जिस कारण ग्राम प्रधान ने पूरे गांव को खतरे में डाल दिया है क्योंकि मव ई कलाँ मे ए सभी परदेशी बिना किसी सरकारी जाँच पड़ताल करायें प्रवेश किया जब हमने फोन पे.ग्राम प्रधान रामनरेश निषाद से जानकारी लिया कि क्या परदेश से कुछ लडके बिना जाँच पड़ताल के गांव के भीतर प्रवेश किया है तो ग्राम प्रधान श्री रामनरेश निषाद झूठ बोलने लगे कि आप यदि फोन नहीं लगाते तो हमें जानकारी भी न होती जो कि सच्चाई यह है कि दोपहर 2 बजे से ही पूरे गांव मे कोलाहल मचने लगा था पूरे गांव में दहशत और भय का माहौल बना हुआ है तो ग्राम प्रधान को कैसे जानकारी नहीं प्राप्त हुई तथा ग्राम प्रधान के पडोस मे नत्थू निषाद का घर है नत्थू निषाद ग्राम प्रधान के गौशाला में काम करता है जिस कारण ग्राम प्रधान नत्थू निषाद पुत्र धर्मराज निषाद को बचाने के लिए बार बार झूठ बोले सूत्रों के हवाले से जब हमें जानकारी प्राप्त हुई तो हम जमुना किनारे स्वयं जाकर धर्मराज से जानकारी लिया किन्तु धर्मराज भी झूठ बोलते नजर आए एवं धर्मराज के साथ मे जो और 12 संदिग्ध लोग थे वो हमारे जमुना किनारे पहोचने से पहले ही इधर उधर कहीं जाकर छिप गए क्योंकि उन्हें बचाने की पुरजोर कोशिश की जा रही हैं अब देखना है कि प्रशासन ग्राम प्रधान एवं उनके सहयोगियों के खिलाफ क्या कार्यवाही करती है।।
रिपोर्ट,, सुभाष चन्द्र शुक्ला टुडे इंडिया लाईव न्यूज
चित्रकूट