Home मनोरंजन फ़िल्मी पर्दे पर दिखेगी डकैत ददुआ की पूरी कहानी, 7 फरवरी को...

फ़िल्मी पर्दे पर दिखेगी डकैत ददुआ की पूरी कहानी, 7 फरवरी को रिलीज हो रही फिल्म । फिल्म अभिनेता दिलीप आर्य ददुआ की मुख्य भूमिका में दिखेंगे।

357
0

सुरेन्द्र कुमार राजपूत:

तानाशाह बुंदेलखंड के बहुचर्चित बागी, ददुआ के जीवन से जुड़ी घटनाओं से प्रेरित कहानी है. जहां फिल्म के कुछ प्रसंग प्रदेश के जाने-माने बागी के जीवन से आए हैं तो कई, लेखकों के अपनी कल्पना से गड़े हैं. प्रयास यही रहा है की कहानी रोचक बने और देखने वालों को बांधे रखें.

तानाशाह बनाने का सिलसिला लगभग 5 साल पहले शुरू हुआ. फिल्म की 10 से 15 लोगों की प्री प्रोडक्शन यूनिट कई बार चित्रकूट मानिकपुर एवं करवी फिल्म के तथ्यों की रिसर्च के लिए आई और गांवों और कस्बों के चक्कर काटे, जिससे उन्हें बुंदेलखंड के रहन-सहन, रिवाजों और प्रदेश की भौगोलिक रूप रेखा की अच्छी जानकारी मिल सकी इनकी मुलाकात ददुआ से जुड़े स्थानीय लोगों से भी हुई जिन्होंने दश्यू के बारे में कई रोचक अनकही बातें बताई शूटिंग स्थलों की रेकी के लिए भी यूनिट का बुंदेलखंड आना हुआ फिल्म की पूरी की पूरी शूटिंग बुंदेलखंड के इलाकों में हुई है जहां से बिहड़ के कई कुख्यात बागी आए हैं दो भाग में बटे लगभग 40 दिनों के शूटिंग का अनुभव प्रतिकूल परिस्थितिया होते हुए भी सबके लिए बेहद रोचक एवं स्मरणीय रहा एक यज्ञ था जिसे हमने पूरा किया और इस यज्ञ को बिना किसी बाधा के पूरा करने में स्थानीय लोगों का भरपूर सहयोग मिला

फिल्म के निर्देशक रितम श्रीवास्तव ने लगभग एक दशक देश के जाने माने निर्देशक प्रकाश झा के साथ उनकी कई हिट फिल्मों में बतौर सहायक निर्देशन का काम किया है फिल्में जैसे सत्याग्रह आरक्षण राजनीति जय गंगाजल की फिल्म आदि रितंम की फ़िल्म क्राफ्ट की पकड़ अच्छी है और वह अपनी कहानी को रोचक शैली में बताना खूब जानते हैं

फिल्म में शिवा की मुख्य भूमिका में दिलीप आर्य हैं यह उनकी पहली फिल्म है दिलीप आर्य भारतेंदु नाट्य अकादमी लखनऊ के छात्र रहे हैं एक अच्छा रोल करने की आकांक्षा ने उन्हें छोटे बड़े पर्दे पर आने से रोक रखा था दिलीप ने ठान लिया था करेंगे तो अच्छा और मुख्य पात्र का किरदार करेंगे अन्यथा नहीं करेंगे अथक प्रयास और प्रतीक्षा का फल ये रहा की पहली ही फिल्म में उन्होंने कमाल कर दिखाया उन्हें लोनावाला फिल्म फेस्टिवल में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का अवार्ड मिला और इनके काम की हर और भूरी भूरी प्रशंसा की जा रही है किसी मायने में लगता है कि यह उनकी पहली फिल्म है आने वाले दिनों में हम इनसे ऐसे ही सशक्त अदाकारी की आशा रखते हैं

फिल्म के अन्य सभी किरदार रंगमंच या फिल्मों से आते हैं इनमें से हर एक ने अपना रोल बखूबी निभाया है और हमें लगता है कि फिल्म हर पात्र दशकों का लंबा याद रहेगा

हालांकि बजट के अनुसार तानाशाह छोटी फिल्म है इससे जुड़े तकनीकीयो के नाम किसी बड़े बजट वाली फिल्म में ही दिखते हैं जैसे कैमरामैन हरि नायर 3 नेशनल अवार्ड से सम्मानित एडिटर प्रशांत नायर व्हिस्लिंग वुड्स फिल्म अकादमी के एडिटिंग डिपार्टमेंट हेड और कई नेशनल अवार्डस के विजेता साउंड डिजाइनर राकेश रंजन बॉलीवुड के 100 से भी अधिक हिट फिल्मों के साउंड एडिटर इत्यादि तो इसमें कोई आश्चर्य नहीं कि फिल्म अपने कद से कहीं बड़ी और शानदार दिखती है

फिल्म के निर्माण में वित्त मुहैया कराने से लेकर आउटडोर शूटिंग सुचारू रूप से संभव कराने एवं फिल्म की पोस्ट प्रोडक्शन और मार्केटिंग में रिजवान मुकेश मिलन सलामुद्दीन एवं संजय मलिक जी का अभूतपूर्व योगदान रहा इन्हीं प्रयासों की वजह से तानाशाह संभव हो पाई है

फिल्म का वितरण स्क्रीनशॉट मीडिया एंड एंटरटेनमेंट ग्रुप के इसरार अहमद द्वारा किया गया है

कानपुर में प्रमोशन के लिए आई तानाशाह की स्टार कास्ट में मीडिया से रूबरू होते हुए ये जानकारी दी । आल इंडिया सिने वर्कर्स एसोसिएशन के राष्ट्रीय महासचिव इंजी० रमन प्रताप सिंह जी ने अपनी यूनियन से पूरे देश मे मदद करने का आश्वासन दिया है।